Breaking News

नीतीश कुमार को जिसने बताया था PM मैटेरियल, उसने अब छोड़ा साथ, कपिल पाटिल ने बनाई नई पार्टी

@शब्द दूत ब्यूरो (03 मार्च 2024)

नीतीश कुमार को जिसने पीएम मैटेरियल बताया था और इंडिया गठबंधन की मुंबई में हुई पहली बैठक में देश मांगे नीतीश कुमार के पोस्टर लगाए थे. उसी कपिल पाटिल ने जेडीयू और नीतीश का साथ छोड़ दिया है. शिक्षक विधायक कपिल पाटिल ने नीतीश कुमार की पार्टी से नाता तोड़ लिया है और उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में नई पार्टी बनाने का ऐलान किया है.

महाराष्ट्र में जेडीयू का यू तो कोई बड़ा जनाधार नहीं है, लेकिन जेडीयू से जुड़े कपिल पाटिल 3 बार से शिक्षक विधायक के तौर पर जीतकर आते रहे हैं, लेकिन नीतीश कुमार के इंडिया गठबंधन से नाता तोड़ने के बाद से वह नाखुश थे.

नीतीश कुमार के बिहार में आरजेडी कांग्रेस से नाता तोड़ने और बीजेपी के साथ जाने के बाद अब कपिल पाटिल ने जेडीयू से ही नाता तोड़ लिया है और अपनी नई पार्टी बनाई है. इस मौके पर उद्धव ठाकरे भी उनके साथ थे. एमएलसी कपिल पाटिल ने नई पार्टी का ऐलान किया है. कपिल पाटिल की नई पार्टी का नाम समाजवादी गणराज्य होगा.

उद्धव ठाकरे और कपिल पाटिल आए एक साथ

इस अवसर पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि आज लोगों को विश्वास भी नही हो रहा होगा कि समाजवादी और हिंदुत्ववादी एक मंच पर कैसे हैं, लेकिन आज इसकी जरूरत है. कपिल पाटिल को धन्यवाद देना चाहता हूं कि उन्होंने ऐसे समय पार्टी बनाई, जब इसकी सख्त जरूरत है. सरकार के खिलाफ लड़ने के लिए अगर किसी ने गठबंधन की पहल की है तो नीतीश कुमार थे. मुझसे मिलने आए थे, काफी चर्चा हुई, लेकिन इतना जल्दी चले जायेंगे, विश्वास नहीं हुआ. 10 साल में सिर्फ सरकार ने नामांतर किया है.

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने अब जुमले का नाम भी बदल कर गारंटी कर दिया है. बीजेपी ने पहली सूची 195 उम्मीदवारों की जारी की. हम मोदी और अमित शाह को नहीं जानते थे. हमारी बीजेपी से पहचान गोपीनाथ मुंडे और प्रमोद महाजन से हुई थी. उसके बाद निष्ठवंत पार्टी के नेता नितिन गडकरी को जानते थे, लेकिन पहली सूची में नितिन गडकरी का नाम नहीं है, लेकिन कृपाशंकर सिंह को टिकट दिया गया है, जिसपर बीजेपी ने ही भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था.

कौन हैं कपिल पाटिल?

जनता दल (यूनाइटेड) ने साल 2022 में महाराष्ट्र के एमएलसी कपिल पाटिल को जदयू का राष्ट्रीय महासचिव बनाया था. ये नियुक्ति जदयू के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष और लोकसभा में पार्टी के नेता राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने की थी. नीतीश कुमार को दिल्ली दौरे के दौरान कपिल पाटिल उनके साथ थे. एक तरह के जेडीयू के लिए कपिल पाटिल ‘महाराष्ट्र फेस’ हैं . पत्रकार से नेता बने कपिल पाटिल ने अपने राजनीतिक संगठन लोक भारती का जदयू में विलय कराया था.

पिछले तीन बार से कपिल पाटिल महाराष्ट्र विधान परिषद में मुंबई शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से चुने जाते रहे हैं. जदयू नेताओं के मुताबिक कपिल पाटिल ने शिक्षा के अधिकार और शिक्षकों के सम्मान के लिए विधानमंडल में लगातार आवाज उठाते रहे हैं.

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

BJP में शामिल हुए मनीष कश्यप, बोले- मेरी मां मोदी की फैन, जेल में था तो मनोज तिवारी ने संबल दिया

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (25 अप्रैल, 2024) बिहार के पॉपुलर यूट्यूब स्टार …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-