Breaking News

Google Gemini खाएगा सुंदर पिचाई की नौकरी? PM नरेंद्र मोदी पर विवादित टिप्पणी तो काले लोगों को बताया नाजी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में आपत्तिजनक कंटेंट परोसने पर गूगल ने माफी मांगी है. हाल ही में गूगल के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टूल जेमिनी एआई ने एक सवाल के जवाब में पीएम मोदी पर विवादित टिप्पणी की थी. इस मामले ने काफी तूल पकड़ा और भारत सरकार ने गूगल को नोटिस भेजकर जवाब मांगा. यह पहला मामला नहीं है जब जेमिनी पर पक्षपातपूर्ण कंटेंट तैयार करने का आरोप लगा है. गूगल के लगातार फेल हो रहे एआई टूल की वजह से सीईओ सुंदर पिचाई की नौकरी भी खतरे में है.

गूगल एआई की रेस में पिछड़ रहा है. ओपनएआई के चैटजीपीटी और माइक्रोसॉफ्ट के कोपायलट जैसे एआई टूल्स गूगल के जेमिनी से काफी आगे हैं. टेक्नोलॉजी एनालिसिस फर्म स्ट्रेटेचेरी के ऑथर बेन थॉम्पसन ने कहा कि गूगल के लिए सबसे बड़ी चुनौती AI नहीं बल्कि उसका वर्किंग कल्चर है. इसमें टॉप लेवल से लेकर निचले लेवल तक बदलाव की जरूरत है.

क्या इस्तीफा देंगे सुंदर पिचाई?

जेमिनी की विफलता सुंदर पिचाई की नौकरी खा सकती है. हेलिओस कैपिटल के फाउंडर समीर अरोड़ा एक्स (पहले ट्विटर) पर लिखते हैं, “मेरा अनुमान है कि उन्हें (सुंदर पिचाई) निकाल दिया जाएगा या वो इस्तीफा देंगे, जैसा कि उन्हें करना चाहिए. एआई में लीड लेने के बावजूद वे इसमें पूरी तरह फेल हो गए हैं और उन्होंने दूसरों को इस पर कब्जा करने दिया है.”

बार्ड को बनाया जेमिनी, फिर भी नहीं सुधरा

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में माइक्रोसॉफ्ट की मदद से ओपनएआई ने चैटजीपीटी के जरिए अच्छा काम किया है. गूगल ने एआई चैटबॉट के तौर पर बार्ड को लॉन्च किया था. हाल ही में उसने बार्ड का नाम बदलकर जेमिनी एआई रख दिया. मगर जिस तरह लॉन्च के दौरान बार्ड ने गलत जवाब देकर गूगल की बेइज्जती कराई थी, उसी तरह जेमिनी के हालिया रिस्पॉन्स ने गूगल की मुसीबत बढ़ाई है.

PM मोदी पर दिया आपत्तिजनक जवाब

जेमिनी की सबसे बड़ी लापरवाही तब देखने को मिली जब एक यूजर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में एक सवाल पूछा. इतना ही नहीं यूजर ने मोदी के के अलावा यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की और पूर्व अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप के बारे में एक जैसा ही सवाल पूछा. जेमिनी ने तीनों के बारे में जो जवाब दिए, वो इसकी पक्षपात ट्रेनिंग बताते हैं.

जेमिनी ने पीएम मोदी के बारे में विवादित जवाब दिया. जबकि जेलेंस्की के मामले पर कहा कि यह कठिन सवाल है. वहीं, ट्रंप के बारे में जवाब देने पर जेमिनी की बोलती बंद हो गई, और उसने कहा कि सटीक जानकारी के लिए गूगल सर्च का इस्तेमाल करें. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गूगल ने पीएम मोदी के मामले में भारत सरकार से माफी मांगी है.

काले और एशियन लोगों को बताया नाजी सैनिक

एक्स पर एक अन्य यूजर ने जेमिनी एआई से नाजी जर्मन सैनिक की तस्वीर बनाने के लिए कहा. गूगल के जेमिनी एआई इमेज जेनरेटर ने जो तस्वीर बनाईं, उन्होंने पूरी दुनिया को हैरान कर दिया. जेमिनी ने काले और एशियन लोगों को नाजी जर्मन सैनिक के तौर पर दिखाया. ये तस्वीरें सामने आने के बाद गूगल ने जेमिनी की एआई इमेज जेनरेटर सर्विस को बंद कर दिया.

यह दिखाता है कि जेमिनी एआई व्हाइट, अमेरिका और अमेरिका के साथी देशों के बारे में अलग और साफ-सुथरा कंटेंट देता है. वहीं, एशिया और अफ्रीका जैसे देशों के लिए पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाता है.

जेमिनी की इतनी बड़ी गलती का खामियाजा सुंदर पिचाई को भुगतना पड़ सकता है. माना जा रहा है कि उनपर पद छोड़ने का दबाव है, या कंपनी उन्हें निकाल सकती है.

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

गर्मी में क्यों कम हो जाती है फैन की स्पीड, कैसे बढ़ा सकते हैं इसे? जानिए यहां

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (20 अप्रैल 2024) गर्मी का असर दिखना शुरू …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-