Breaking News

बड़ी खबर :श्रीलंकाई पुलिस ने 60 भारतीयों को आनलाइन वित्तीय धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार किया, दुबई और अफगानिस्तान से जुड़े हैं तार

@शब्द दूत ब्यूरो (28 जून 2024)

कोलंबो । भारत के साठ लोगों को यहाँ के विभिन्न शहरों से साइबर फ्राड के मामले में गिरफ्तार किया गया है। इन सभी के तार अफगानिस्तान और दुबई से जुडे बताये जा रहे हैं। सभी आनलाइन वित्तीय धोखाधड़ी करते थे और संगठित रूप से एक गिरोह चलाते हैं। सूचना पर श्रीलंकाई पुलिस ने बड़ पैमाने पर छाछापेमारी की और इन सभी को मोबाइल फोन तथा लैपटॉप समेत दबोचा।

यह गिरफ्तारियां गुरूवार को हुई है। पुलिस ने कोलंबो के उपनगरीय इलाकों मडीवेला और बट्टारामुल्ला तथा पश्चिमी तटीय शहर नेगोम्बो से गिरफ्तार किया। पुलिस प्रवक्ता एसएसपी (वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक) निहाल थलदुवा ने बताया कि अपराध जांच विभाग (सीआईडी) ​​ने इन इलाकों में एक साथ छापेमारी की और इस दौरान 135 मोबाइल फोन और 57 लैपटॉप जब्त किए।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार यह कार्रवाई एक पीड़ित की शिकायत के आधार पर की गई जिसने आरोप लगाया था कि सोशल मीडिया पर संवाद करने के लिए उसे नकद राशि दिए जाने का वादा करके एक व्हाट्स एप समूह में जोड़ा गया था। उसने बताया कि जांच में ऐसी साजिश का पता चला जिसके जरिए पीड़ितों को शुरुआती भुगतान के बाद धनराशि जमा करने के लिए मजबूर किया जाता था। स्थानीय मीडिया मे छपी रिपोर्ट के अनुसार पेराडेनिया में एक व्यक्ति और उसके बेटे ने धोखेबाजों की मदद करने की बात स्वीकार की। उसने बताया कि नेगोम्बो में एक आलीशान मकान पर छापेमारी के दौरान मिले महत्वपूर्ण सबूतों के आधार पर शुरुआत में 13 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया और 57 फोन एवं कंप्यूटर जब्त किए गए।

नेगोम्बो में बाद की कार्रवाई के दौरान 19 और लोगों को गिरफ्तार किया गया जिससे इस गिरोह के दुबई और अफगानिस्तान में अंतरराष्ट्रीय संबंधों का पता चला। रिपोर्ट में कहा गया है कि पीड़ितों में स्थानीय और विदेशी दोनों शामिल हैं। ऐसा संदेह है कि आरोपी वित्तीय धोखाधड़ी, अवैध सट्टेबाजी और जुए से जुड़ी विभिन्न गतिविधियों में शामिल थे।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

वन वे ट्रैफिक के चलते भीषण दुर्घटना,दो बसों की आमने-सामने टक्कर, 4 यात्रियों की मौत,60 घायल

🔊 Listen to this वन वे ट्रैफिक के चलते हुई दुर्घटना @शब्द दूत ब्यूरो (22 …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-