Breaking News

रमजान के पहले दिन अल अक्सा मस्जिद पर कुछ होने वाला है…हो रही ये बड़ी प्लानिंग

@शब्द दूत ब्यूरो (29 फरवरी, 2024)

रमजान का महीना शुरू होने से पहले ही इजराइल ने मस्जिद अल-अक्सा में फिलिस्तीनियों के प्रवेश पर पाबंदियां लगाने की बात कही है. उधर, हमास पॉलिटिकल विंग के चीफ इस्माइल हानिया ने फिलिस्तीनियों से अपील की है कि वे रमजान के पहले दिन वेस्ट-बैंक से अल-अक्सा मस्जिद तक मार्च करें. हमास लीडर ने ये अपील एक टेलीविजन चैनल के जरिए की और साथ ही सुरक्षा कारणों से मस्जिद अल-अक्सा पर रिस्ट्रिक्शन लगाने के फैसले का विरोध किया है. पवित्र महीना रमजान मार्च की 10 या 11 तारीख से शुरू हो रहा है जिसको लेकर दुनिया भर में तैयारियां होने लगी है.

अपने बयान में हानिया ने कहा, “अल-अक्सा मस्जिद और दूसरे पवित्र स्थानों का मैनेजमेंट अंतरराष्ट्रीय कानून के मुताबिक किया जाना चाहिए. हमारे लोग अपनी मस्जिदों, चर्चों को बचाने के लिए हर तरह से प्रतिरोध करेंगे. हानिया ने अपने बयान में ये भी कहा कि वेस्ट-बैंक में इजराइल के हमले फिलिस्तीनियों को बेदखल करने के प्लान का हिस्सा हैं. कई सालों से रमजान में फिलिस्तीनियों और इजराइल बलों के बीच झड़पे देखने मिली है, इस बार के रमजान फिलिस्तीनियों के लिए और ज्यादा हिंसक होने की उम्मीद है.

वेस्टबैंक में भी फिलिस्तीनियों पर हो रहे हमले

7 अक्टूबर के बाद इजराइल ने गाजा ही नहीं बल्कि वेस्ट-बैंक में रहने वाले फिलिस्तीनियों के खिलाफ भी अपनी कार्रवाई तेज की है. इजराइल सुरक्षा बलों ने जेनिन कैंप के अलावा वेल्ट-बैंक में कई फिलिस्तीनी बस्तियों में रेड कर लोगों को गिरफ्तार किया है. वेस्ट-बैंक में इजराइली बलों और फिलिस्तीनियों के बीच हुई झड़पों में 7 अक्टूबर के बाद से करीब 410 लोगों की मौत हो चुकी है और लगभग 4600 लोगों घायल हुए हैं.

“गाजा में लड़ाई जारी रखने के लिए तैयार हैं”

सीजफायर पर चल रही बातचीत पर हमास लीडर ने कहा कि हमास सीजफायर के लिए बातचीत में फिलेक्सिबिलिटी दिखा रहा है लेकिन साथ ही वह लड़ाई जारी रखने के लिए भी तैयार है. गाजा युद्धविराम को लेकर मिस्र और कतरी चैनल के जरिए पिछले एक महीने से बातचीत चल रही है, मीडिया की खबरों के मुताबिक हमास को 40 दिन के सीजफायर के लिए मसौदा सौंपा गया है जिसपर वे अध्ययन कर रहा है. सीजफायर के मसौदे में 40 इजराइली बंधकों को छोड़ने के बदले 400 फिलिस्तीनी कैदियों को रिहा किया जाएगा. इसके अलावा मसौदे में गाजा वासियों को वापस से नॉर्थन गाजा भेजने और ऐड ट्रक्स की गाजा में एंट्री शामिल है.

Check Also

पीएम मोदी की जी 7 समिट में पोप फ्रांसिस से मुलाकात, सराहना करते हुए भारत आने का न्यौता दिया, भारतीय ईसाई समुदाय में खुशी

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (15 जून 2024) इटली। जी 7 समिट में …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-