Breaking News

काशीपुर:मेरे पति अर्पित अग्रवाल की हत्या की सीबीआई जांच हो,आठ वर्ष पूर्व हुई थी हत्या, पत्नी रूपाली अग्रवाल ने लगाई गुहार

@शब्द दूत ब्यूरो (29 अक्टूबर 2023)

काशीपुर। चामुंडा बिहार निवासी अर्पित अग्रवाल की आठ वर्ष पूर्व हुई हत्या की सीबीआई जांच की मांग उसकी पत्नी ने की है। रूपाली अग्रवाल ने अपने पति की हत्या के पीछे अनूप अग्रवाल की साज़िश बताई। हालांकि यहां यह बता दें कि इस मामले में हुई एक एस आई टी जांच में अनूप अग्रवाल को क्लीन चिट दी जा चुकी है। अब रूपाली अग्रवाल के लगाये गये आरोपों में कितनी सच्चाई है यह तो जांच का विषय है। अनूप अग्रवाल पर उनके ही एक अन्य रिश्तेदार प्रतीक अग्रवाल की ओर से भी दो दिन पहले मुकदमा दर्ज कराया गया है।

आज यहां जारी एक लिखित बयान में रूपाली अग्रवाल ने कहा है कि 17 जून 2014 को उनके पति अर्पित अग्रवाल की हत्या हुई थी। रूपाली के मुताबिक उसके पति की हत्या की जांच के मामले को अनूप अग्रवाल द्वारा आगे नहीं बढ़ने दिया गया। जिस वजह से आज तक उन्हें न्याय नहीं मिला है। बयान में रुपाली अग्रवाल ने अपने पति अर्पित अग्रवाल की हत्या में पति के तयेरे भाई अनूप अग्रवाल की साज़िश का आरोप लगाया है।

रूपाली के मुताबिक आज वह अपनी बात बताने का साहस जुटा रही है। मुझे ख़ौफ़ के कारण आज तक न्याय नहीं मिल पाया है। 17 जून 2014 को मेरे पति अर्पित अग्रवाल की हत्या के संबंध में हुई प्रथम एस आई टी जाँच की रिपोर्ट भरसक प्रयासों के बावजूद आज तक उपलब्ध नहीं हो पायी है।

रूपाली अग्रवाल का कहना है कि दोबारा हुई एस आई
टी जाँच में भले ही अनूप अग्रवाल व उसके परिवार को क्लीन चिट मिल गई हो परंतु फिर भी उक्त घटना में अनूप अग्रवाल
एवं परिवार की भूमिका संदेह के घेरे में है। यदि ऐसा नहीं है तो फिर अनूप अग्रवाल जांच से क्यों भागते रहे? साथ ही मेरे
द्वारा तत्कालीन मुख्यमंत्री से कराए गए सी बीआई जांच के आदेश गायब हो जाने में भी अनूप अग्रवाल व उसके परिवार की भूमिका संदेह के घेरे में है।

रूपाली अग्रवाल ने कहा कि मेरी सास द्वारा जब कोर्ट के आदेश पर 23 सितंबर 2022 को अनूप अग्रवाल के परिवार के विरुद्ध धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया गया तो एक षड्यंत्र के तहत ठीक दो माह बाद उनके परिवार पर दबाव बनाने के लिए 29 नवंबर 2022 को जिला बिजनौर में किसी अनजान व्यक्ति द्वारा मेरे विरुद्ध एक फर्जी मुकदमा दर्ज कराया गया जिसमे उचित जाँच के बाद पुलिस द्वारा उनके परिवार को क्लीन चिट देते हुए फाइनल रिपोर्ट उपलब्ध करा दी गई। पारिवारिक संपत्तियों की धोखाधड़ी से दुखी होकर मेरी विधवा सास श्रीमती पुष्पा अग्रवाल द्वारा अदालत के आदेश से जो मुकदमा दर्ज कराया गया उस केस में पुलिस की जांच की गति भी बहुत ही धीमी है।

रूपाली अग्रवाल ने सूबे के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से अपने पति अर्पित अग्रवाल की हत्या की सीबीआई जांच कराने तथा अपने परिवार को सुरक्षा प्रदान करने की मांग की है।

 

Check Also

दुखद :जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ में घायल चार जवान शहीद, अस्पताल में उपचार के दौरान आज तड़के हुआ निधन

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (16 जुलाई 2024) एक दुखद खबर जम्मू-कश्मीर से …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-