Breaking News

ईरान ने इजराइल से बदला लेने की खाई कसम, इन 9 घातक ब्रह्मास्त्रों से करेगा वार!

@शब्द दूत ब्यूरो (09 अप्रैल 2024)

1 अप्रैल को इजराइल ने सीरिया की राजधानी दमिश्क में ईरान के दूतावास पर हमला किया था. इस अटैक में कई ईरानी कमांडर की मौत हुई. मगर इजराइल का यही हमला अब पूरे अरब वर्ल्ड को महाजंग में झोंक सकता है. आशंका तो ये भी जतायी जा रही है कि अरब के साथ-साथ अफ्रीका में भी बारूदी भूचाल आ सकता है क्योंकि ईरान ने इजराइल के खिलाफ जंग का ऐलान कर दिया है. किन हथियारों से इजरायल पर हमला होगा. कहां होगा, कैसे होगा, ये सारा प्लान ईरानी सेना ने तैयार कर लिया है.

हैरान करने वाली बात ये है कि इजराइल के खिलाफ युद्ध में ईरान अकेला नहीं, बल्कि तमाम प्रॉक्सी संगठनों के लाखों सैनिकों के साथ उतरेगा तो क्या रईसी के प्रतिशोध से इजराइल का वजूद मिटना तय है. ईरान की राजधानी तेहरान से तेल अवीव की दूरी करीब 2000 किलोमीटर है. ऐसे में इजराइल पर ताबड़तोड़ प्रहार करने के लिए ईरान ने 9 घातक ब्रह्मास्त्रों को वॉर जोन में उतारने की तैयारी कर ली है.

कौन-कौन से हथियार हैं शामिल?

ईरान की पहली घातक मिसाइल सेज्जिल है जिसकी मारक क्षमता 2000 से 2500 किलोमीटर है. ये मिसाइल मैक-12 यानी 15000 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से अटैक कर सकती है.वहीं ईरान का दूसरा ब्रह्मास्त्र खैबर मिसाइल है, जिसकी रेंज 2000 किलोमीटर है. ये मिसाइल मैक-5 यानी 6000 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से टारगेट पर धावा बोलती है. तीसरी मिसाइल इमाद है, जिसकी मारक क्षमता 2000 किलोमीटर है, ये मिसाइल मैक-7 यानी 8643 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भरती है. ईरान का चौथा ब्रह्मास्त्र शाहाब-3 है, जिसकी रेंज 2 हजार किलोमीटर है, ये मिसाइल मैक-7 की रफ्तार से पिन प्वाइंट अटैक करती है.

दहल जाएगा इजराइल

इजराइल को दहलाने वाली पांचवीं मिसाइल का नाम गदर है. गदर मैक-9 की रफ्तार से 9000 किलोमीटर तक विध्वंसक प्रहार कर सकती है. पवेह ईरान की छठी मिसाइल है, यह एक शॉर्ट रेंज क्रूज मिसाइल है. पवेह की मारक क्षमता 1650 किलोमीटर है और इसकी रफ्तार 900 किलोमीटर प्रति घंटे है. रईसी के सातवें ब्रह्मास्त्र का नाम फतह-2 है, जो कि एक हाइपरसोनिक मिसाइल है. फतह-2 मिसाइल की रेंज 1400 किलोमीटर है और ये मैक-5 यानी 6000 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से अटैक करती है. ईरान की आठवीं मिसाइल खैबर शेकन है, जो कि 1500 किलोमीटर तक तबाही मचा सकती है. इसकी रफ्तार 5000 किलोमीटर प्रति घंटा है. इसके अलावा इजराइल में बारूदी भूचाल लाने के लिए ईरान की नौवीं मिसाइल हज कसैम है, जो मैक-5 की रफ्तार से 1400 किलोमीटर तक के इलाके को दहला सकती है.

सीरिया की राजधानी दमिश्क में इजराइल के किए गए हवाई हमले में ईरान का वाणिज्य दूतावास पूरी तरह से बर्बाद हो गया, इतना ही नहीं इस हमले में दो ईरानी जनरल के अलावा 12 लोगों की मौत हो गई थी. इसमें 7 ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड, 4 सीरियाई और 1 हिजबुल्लाह मिलिशिया सदस्य थे. ईरानी कमांडर के अंतिम संस्कार के दौरान ईरान के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ जनरल मोहम्मद बघेरी ने इजराइल से अपने बदले की बात कही थी. उन्होंने कहा था कि इजराइल के किए गए इस हमले के बाद जवाबी कार्रवाई में ईरान तय करेगा कि बदला लेने के लिए कब और कैसे ऑपरेशन करना है.

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

रफा पर मंडरा रहे खतरे के बादल, इजराइल के आगे रेड क्रॉस ने भी खड़े किए हाथ

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (24 अप्रैल, 2024) ईरान के हमले के बाद …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-