Breaking News

अंकिता भंडारी हत्याकांड :एक के बाद एक खुलासे, पुलकित के पिता बोले मेरा बेटा सीधा सादा, एएसपी ने कहा कोई साक्ष्य नहीं मिटाया गया, देखिए वीडियो

@शब्द दूत ब्यूरो (26 सितंबर 2022)

देहरादून । अंकिता भंडारी हत्याकांड में आरोपी के रिजार्ट पर आधी रात में बुलडोजर चलाये जाने के बाद सोशल मीडिया पर साक्ष्य मिटाये जाने के आरोप लगाये जा रहे हैं।

इस हत्याकांड की जांच के लिए गठित एस आई टी ने इन अफवाहों को गलत करार दिया है। पुलिस द्वारा गठित एसआईटी के सदस्य कोटद्वार के अपर पुलिस अधीक्षक शेखर सुयाल ने इन अफवाहों झुठलाते हुये कहा कि 22 को ही बुलडोजर चलने से पहले रिजार्ट से मामले के सूबूत जुटा लिए गए थे।  रिसॉर्ट से साक्ष्य मिटाये जाने की अफवाहें असत्य हैं।एएसपी शेखर सुयाल ने कहा कि सभी साक्ष्य सुरक्षित हैं। दोषियों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा।

अंकिता के पिता वीरेंद्र भंडारी ने इस मामले में एक और खुलासा करते हुए बताया कि उनकी बेटी 18 तारीख की रात 8:30 से लापता थी। जब वह थाने से पटवारी के पास गए तो उस समय वहां का चार्ज वैभव प्रताप के पास था। 19 सितंबर को जैसे ही वह वहां पहुंचे तो पुलकित आर्य और अंकित पहले से मौजूद थे। इस दौरान उनसे बहस हुई और वो मुझे मारने के लिए खड़े हो गए।

उन्होंने कहा कि मेरी मांग है कि आरोपियों के खिलाफ फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस चले और फांसी हो। उधर हत्यारोपी पुलकित आर्य को लेकर एक और खुलासा हुआ है। उसने हरिद्वार मे बीएएमएस करने के लिए भी फर्जी दस्तावेज लगाए थे और उस पर पर साल 2016 में हरिद्वार में धोखाधड़ी का एक मुकदमा दर्ज हुआ था। पुलिस अब पुलकित आपराधिक इतिहास खंगाल रही है।

बहरहाल अंकिता हत्याकांड के बाद एक के बाद एक खुलासे हो रहे हैं।

तो वहीं दूसरी तरफ पुलकित के पिता विनोद आर्य ने अपने पुत्र को सीधा सादा बताया और कहा कि उसे इंसाफ मिलेगा।

 

Check Also

ब्रेकिंग :उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश व आंधी तूफान का ओरेंज अलर्ट, ऊधमसिंह नगर समेत अनेक जिलों के लिए चेतावनी

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (19 जून 2024) देहरादून । राज्य के मैदानी …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-