Breaking News

उत्तराखंड में बारिश का कहर, माँ बेटे की मौत, कई घर बहे,

 देहरादून। राज्य में दो जगह बादल फटने से कई घर बह गए हैं। । एक महिला और एक बच्चे की मौत हो गई।  बादलों का ये कहर गढ़वाल इलाके में बरपा है।

 

बीती देर रात्रि हुई इन घटनाओं के बाद राहत व बचाव कार्य जारी है। अभी भी एक व्यक्ति लापता हैं। दो महिलाएं मलबे में दबी हैं। हालांकि प्रशासन इसे अतिवृष्टि बता रहा है जबकि स्थानीय लोग इन घटनाओं को बादल फटना बता रहे हैं।

चमोली जिले में कर्णप्रयाग के देवाल क्षेत्र के  फल्दिया गांव में  देर रात करीब 10.30 बजे अतिवृष्टि होने से भारी तबाही मच गई। गांव में भारी मात्रा में मलबा आ गया है।

फल्दिया गांव में मलबे  दो महिलाओं के दबने की सूचना है। गांव के  11 मकान बह गए हैं। गाय, भैंस सहित खाने-पीने का सामान भी बह गया है।बिजली रात से ही गायब है। गाँव का मंजर खौफनाक है। तमाम टूटे घरों के बाहर लोग बैठे हैं। पानी की लाइन भी टूट गयी है। 

मौके पर एसडीएम के एस नेगी तथा प्रशासन की पूरी टीम पुलिस के साथ मौजूद है। क्षेत्र की तमाम सड़कों के बंद होने से राहत टीम को पहुंचाने में काफी दिक्कत हो रही है।देवाल के अलावा निकट के पदमल्ला, बामण, तलोर में भी भारी तबाही के निशान हैं।

वहीं टिहरी जिले के  घनसाली पट्टी नैलचामी के धार गांव थाती में गुरुवार देर रात करीब एक बजे भारी अतिवृष्टि हुई जिसमें एक महिला और एक बच्चे की मौत हो गई है। एक व्यक्ति लापता है और दो लोग घायल हुए हैं। सूचना पाकर तहसीलदार मौके पर पहुंच गए हैं। यहां से जानकारी मिली है कि शंकर सिंह के घर के ऊपर सोड़ तोक में बादलों ने कहर बरपाया। शंकर सिंह, उनकी पत्नी बचन देई, कुमारी सपना और कुमारी ईशा को मलबे से ग्रमीणों ने निकाल लिया है। मकानी देवी और उनके पाचं साल के बेटे सुरजीत की मौत हो गई है। यहां कई बीघा खेत एवं मवेशी बह गए हैं।स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मौके पर पहुंच कर घायलों का समुचित उपचार किया जबकि एक गंभीर घायल बालिका को रैफर किया गया है।

विज्ञापन
Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

केदारनाथ यात्रियों को ले जा रहे हेलीकॉप्टर की इमर्जेंसी लैंडिंग,सभी यात्री सुरक्षित देखिए घटना का खौफनाक वीडियो

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (24 मई 2024) केदारनाथ । आज प्रातः लगभग …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-