Breaking News

पीएम घर छोड़कर भागे, प्रधानमंत्री आवास को 20 हजार ट्रक चालकों ने घेरा, जानिए क्या है मामला

कोरोना वैक्सीन जनादेश और अन्य सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रतिबंधों को समाप्त करने का आह्वान करने के लिए हजारों ट्रक चालक और अन्य प्रदर्शनकारी राजधानी शहर में एकत्रित हो गए और पीएम ट्रूडो के आवास को घेर लिया।

@नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो (30 जनवरी, 2022)

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो और उनके परिवार को शनिवार को भारी विरोध प्रदर्शन के चलते अपने आवास को छोड़कर गुप्त जगह ठिकाना लेना पड़ा है।

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो और उनके परिवार ने भारी विरोध प्रदर्शन की वजह से देश की राजधानी स्थित अपने आवास को छोड़ दिया है और एक गुप्त स्थान पर स्थानांतरित हो गए हैं। बताया जा रहा है कि कोरोना वैक्सीन जनादेश और अन्य सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रतिबंधों को समाप्त करने का आह्वान करने के लिए हजारों ट्रक चालक और अन्य प्रदर्शनकारी राजधानी शहर में एकत्रित हो गए और पीएम ट्रूडो के आवास को घेर लिया।

इन ट्रक चालकों ने अपने करीब 70 किलोमीटर लंबे काफिले को ‘फ्रीडम कान्वॉइ’ नाम दिया है। ट्रक वाले कनाडा के झंडे के साथ ‘आजादी’ की मांग वाले झंडे लहरा रहे हैं। वे पीएम ट्रूडो के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे हैं। इस आंदोलन में ट्रक चालकों को हजारों अन्य प्रदर्शनकारियों का भी साथ मिल रहा है जो कि कोरोना प्रतिबंधों के खिलाफ नाराजगी जाहिर कर रहे हैं। सड़कों पर हजारों की संख्या में बड़े-बड़े ट्रकों की आवाजें लगातार सुनाई दे रही हैं और ड्राइवर उनके हॉर्न लगातार बजाकर सरकार का विरोध कर रहे हैं। वे संसद के पास पहुंच गए हैं।

लगभग 20 हजार से अधिक ट्रक चालकों एवं अन्य प्रदर्शनकारी राष्ट्रीय राजधानी ओटावा में जमा हो गए। ट्रक चालकों ने अमेरिका की सीमा को पार करने के लिए वैक्सीन को अनिवार्य बनाए जाने का विरोध किया है। ट्रक चालकों में गुस्सा इस बात का भी है क्योंकि कुछ दिन पहले कनाडाई पीएम ने एक विवादित बयान देते हुए ट्रक वालों को ‘महत्व नहीं रखने वाले अल्पसंख्यक’ करार दिया था। शहर में स्थिति गंभीर हो गई है।

आलम यह है कि ओटावा जाने वाले रास्ते पर ट्रकों की 70 किमी तक लंबी कतार लग गई है जिसके कारण अन्य यात्रियों को भी आने-जाने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। अभी किसी को कोई जानकारी नहीं है कि पीएम ट्रूडो और उनका परिवार कहां छिपे हैं। हालांकि प्रदर्शनकारी अन्य शहरों में भी प्रवेश करने की कोशिश में लगे हैं।

प्रदर्शन कर रहे ट्रक चालकों को टेस्ला कंपनी के मालिक और दुनिया के सबसे अमीर इंसानों में से एक एलन मस्क का भी समर्थन मिला। मस्क ने ट्वीट करके कहा, ‘कनाडाई ट्रक चालकों का शासन’ और अब इस आंदोलन की गूंज अमेरिका तक देखी जा रही है। वहीं पीएम ट्रूडो ने कहा है कि ट्रक वाले विज्ञान के विरोधी हैं और वे न केवल खुद के लिए बल्कि कनाडा के अन्य लोगों के लिए खतरा बनते जा रहे हैं।

Check Also

उत्तराखंड: धधकते रहेंगे जंगल लेकिन आग बुझाने नहीं आएंगे हेलिकॉप्टर, न कोई प्रस्ताव मिला और न विभाग को जरूरत

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (12 अप्रैल, 2024) उत्तराखंड में जंगल इस साल …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-