Breaking News

काशीपुर विधानसभा संग्राम आज :एकजुट कांग्रेस खेमे में जबर्दस्त उत्साह, विरोध के बीच भाजपा का संघर्ष, आम आदमी पार्टी मुख्य मुकाबले में, त्रिकोणीय संघर्ष की स्थिति

@विनोद भगत

काशीपुर । उत्तराखंड की काशीपुर विधानसभा में इस बार काफी लंबे समय के बाद कांग्रेस के नेताओं की चुनाव के दौरान एकजुटता और उत्साह का माहौल देखने में आ रहा है। पिछले कुछ चुनाव में यहाँ कांग्रेस खेमों में बंटी नजर आती थी लेकिन इस बार पार्टी के लिए यह सुखद संकेत है कि सभी कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता एक मंच पर अपने प्रत्याशी नरेंद्र चंद्र सिंह के चुनाव प्रचार में जुट गये हैं। 

एक समय था जब कांग्रेस का मतलब यहां सिर्फ जीत हुआ करती थी। स्व नारायण दत्त तिवारी,स्व  सत्येंद्र चन्द्र गुड़िया और केसी सिंह बाबा के प्रत्याशी रहने के दौरान यहाँ होने वाले विधान सभा चुनाव में सभी पार्टी जन पूरे प्राण प्रण से चुनाव में भागीदारी करते थे। हालांकि बाद के चुनावों में वह माहौल देखने में नहीं आया। गुटों में बंट कांग्रेस लगातार हार के झटके झेलती रही। लेकिन इस बार पुनः कांग्रेस के चुनावी प्रचार में एक नया जोश और दम दिखाई देने लगा है। कांग्रेस की चिर प्रतिद्वंदी भारतीय जनता पार्टी इस बार यहाँ प्रत्याशी चयन के बाद से ही उठे बगावत के सुरों से ग्रसित होकर शंका व आशंका के भंवर में मंडराने लगी है। हालांकि भाजपा के लिये यह राहत की बात है कि उसकी ओर से निर्दलीय रूप से कोई बागी खड़ा नहीं हो रहा। लेकिन टिकट न पाने की टीस के परिणामस्वरूप भाजपा के स्थानीय नेताओं का शुरूआती विरोध भाजपा को मंहगा पड़ सकता है। टिकट न मिलने पर जिस तरह से दिग्गज स्थानीय भाजपा नेता राम मेहरोत्रा और मेयर ऊषा चौधरी ने एक बड़ बैठक कर अपना आक्रोश और गुस्से का इजहार किया वह ठंडा पड़ गया है। इसके बावजूद अब भाजपा के लिए आगे की राह मुश्किल दिखाई दे रही है। वहीं काशीपुर विधानसभा में पर्वतीय वोटों का रूझान भी इस बार भाजपा की तरफ नहीं दिखाई दे रहा। उत्तराखंड क्रांति दल के प्रत्याशी मनोज कुमार डोबरियाल और कांग्रेस के नरेंद्र चंद्र सिंह दोनों पर्वतीय मतों में बड़ी हिस्सेदारी कर रहे हैं। अपनों और किसान आंदोलन से उपजा विरोध भाजपा विधायक हरभजन सिंह चीमा के पुत्र त्रिलोक सिंह चीमा की जीत की राह में मुश्किल खड़ी कर सकता है।

उधर पिछले दो सालों से आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी दीपक बाली भाजपा कांग्रेस के लिये एक बड़ी चुनौती के रूप में सामने हैं। मौजूदा समीकरण के हिसाब से इस बार आम आदमी पार्टी अपनी जबर्दस्त उपस्थिति दर्ज करा रही है। यूं अगर कहा जाए तो आम आदमी पार्टी ने पिछले कुछ समय से जिस तरह से अपना प्रचार किया है उससे वह मुख्य मुकाबले में खड़ी हो गई है। आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी दीपक बाली ने एक साल के भीतर एक राजनेता के रूप में जो हासिल किया है वह वर्षों पुरानी भाजपा व कांग्रेस के लिये इस चुनाव में बड़ी मुश्किल खड़ी करने जा रहे हैं। मौजूदा स्थिति के आकलन से फिलहाल यहाँ मुकाबला त्रिकोणीय संघर्ष का बन गया है। भाजपा और कांग्रेस दोनों का मुकाबला आम आदमी पार्टी से बन रहा है। जीत या हार किसकी होगी यह तो भविष्य के गर्भ में है।(जारी) 

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

पहाड़ों की रानी Mussoorie में पर्यटकों की भारी भीड़, Nainital में ईद के बाद उमड़ा हुजुम

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (13 अप्रैल 2024) मसूरी: ईद के बाद सेंकेंड …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-