Breaking News

उत्तराखंड: अपनी शर्त पर टिहरी से लड़ने को तैयार किशोर उपाध्याय

@शब्द दूत ब्यूरो (26 जनवरी, 2022)

पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ‘रस्सी जल गई लेकिन बल नहीं गया’ की कहावत को चरितार्थ करते नजर आ रहे हैं। खबर है कि उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व से अपनी ‘शर्तों’ पर चुनाव लड़ने की पेशकश की है।

ऐन चुनाव के वक्त भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के साथ गलबहियां करने के इल्जाम में कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने किशोर उपाध्याय को समस्त पदों से हटा दिया था। उत्तराखंड कांग्रेस प्रभारी देवेंद्र यादव ने किशोर उपाध्याय ने बाकायदा पत्र लिखकर यह आरोप लगाया था कि जिस दौर में पूरे प्रदेश के लोग भाजपा की सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए तैयार हैं, उस समय किशोर उपाध्याय की गतिविधियां पार्टी विरोधी है।

इस पत्र के जारी होने के बाद किशोर उपाध्याय कांग्रेस दफ्तर नहीं गए और ना वह सार्वजनिक रूप से किसी कार्यक्रम में दिखाई दिए। क्योंकि भाजपा कांग्रेस दोनों दलों ने टिहरी किस सीट से किसी को टिकट नहीं दिया है। यह उम्मीद की जा रही थी कि किशोर की भाजपा से सेटिंग हो गई है और वे भाजपा में सम्मिलित हो सकते हैं।

किशोर उपाध्याय लंबे समय तक दिल्ली में डटे रहे और जब भाजपा में बात नहीं बनी तो अब कांग्रेस के सामने एक प्रस्ताव रखा है। उनकी मांग है कि देवेंद्र यादव ने निष्कासन का जो पत्र जारी किया था उसे वापस लिया जाए। उसके बाद वे टिहरी से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने को तैयार है।

अब जबकि नामांकन करने की तारीख नजदीक है, देखना ये है कि क्या कांग्रेस पार्टी किशोर उपाध्याय की इस मांग को मानती है। क्या देवेंद्र यादव अपने नोटिस को वापस लेंगे। और क्या किशोर उपाध्याय वास्तव में कांग्रेस के चुनाव चिन्ह पर ही टिहरी से चुनाव लड़ेंगे।

Check Also

सोशल मीडिया: प्रत्याशियों के फॉलोअर्स ने भरी उड़ान, कन्हैया ने तोड़े सारे रिकॉर्ड

🔊 Listen to this @नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो (22 अप्रैल, 2024) दिल्ली में लोकसभा …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-