Breaking News

ताश की गड्डी में चार बादशाहों में से एक की मूंछ नहीं होती, क्या आपको पता है इसकी वजह

ताश की गड्डी में 52 पत्ते होते हैं। हुकुम, पान, ईंट और चिड़ी यानी चारों सेगमेट में एक ही रंग के 13 पत्ते होते हैं तो सबमे एक बादशाह होता है। इन चारों किंग में एक राजा ऐसा है जिसके पास वो चीज नहीं जो बाकी तीन राजाओं के पास है।

@नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो (23 जनवरी, 2022)

ताश का खेल कितना पुराना है इसका अंदाजा लगाना आसान नहीं है। ताश के खेल दुनिया में उस जमाने से हैं जब किसी ने आज के इंटरनेट यानी डाटा वाले युग और स्मार्ट फोन की कल्पना भी नहीं की होगी। हमने अपने बचपन से लेकर अभी तक कहीं न कहीं या कभी न कभी ताश के पत्तों का खेल देखा या खेला जरूर होगा। अब तो मोबाइल पर ऑनलाइन प्लेइंग कार्ड खेलने की भी सुविधा है। लेकिन इस ताश के पत्तों के बारे में कुछ ऐसे राज यानी कहानियां छिपी हैं जिनके बारे में इन्हें खेलने वाले भी नहीं जानते होंगे।

आपने कहावत सुनी होगी, मूंछ नहीं तो कुछ नहीं। इन्हीं मूछों के चक्कर में अभी पुलिस के एक सिपाही को ड्यूटी पर शानदार मूंछें रखने की वजह से सस्पेंड कर दिया गया था। भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान की बेहतरीन मूंछों का ट्रेंड तो पूरे देश में वायरल हुआ था। आम हो या खास मूछों पर ताव देना भला किसे नहीं अच्छा लगता।

ऐसे में अगर आपसे कहा जाए कि अगर किसी बादशाह या राजा के पास मूंछ नहीं है तो देखने और सुनने में थोड़ा अटपटा लगता है। यहां बात ताश के पत्तों की तो इसमें हुकुम, चिड़ी, ईंट और पान के 13-13 यानी एक ही रंग के 13 पत्ते होते हैं। लेकिन पान के बादशाह के पास मूंछ नहीं होती है।

ताश के 52 पत्तों में हुकुम, पान, चिड़ी और ईंट चिन्ह व रंग के चार बादशाह होते हैं। सभी जानते हैं कि इस खेल में इक्का, राजा यानी बादशाह, क्वीन यानी बेगम और जोकर की क्या अहमियत होती है। लेकिन, इनमें जो लाल पान का बादशाह जिसे ‘किंग ऑफ हार्ट’ भी कहते हैं, उसकी मूंछें नहीं होती। अब सवाल उठता है कि आखिर क्यों नहीं होती उसकी मूंछ, तो सब्र से इंतजार कीजिए और आगे पढ़ते जाइए।इस सवाल का जवाब आपको मिल जाएगा।

हालांकि, कहा जाता है कि जब ताश का खेल वजूद में आया तो लाल पान के राजा की भी मूंछ हुआ करती थी। लेकिन जब इन पत्तों को दोबारा से नई तकनीक से डिजाइन किया गया तो डिजाइनर ‘किंग ऑफ हार्ड’ की मूंछें बनाना ही भूल गया। गजब बात ये है कि गलती उजागर होने के बाद भी उसे सुधारा नहीं गया और तब इन चार राजाओं में से एक किंग बिना मूंछ के है।

वैसे इस गलती को न सुधारने की एक वजह ये भी मानी जाती है कि ‘किंग ऑफ हार्ट’ फ्रेंच किंग ‘शारलेमेन’ की तस्वीर है, जो दिखने में सुंदर और मशहूर भी थे। इसीलिए उन्होंने सबसे अलग दिखने की चाह में अपनी मूंछ खुद कटवा दी थी। यही वजह रही जो इस गलती को ठीक नहीं किया गया। आपको बता दें, किंग ऑफ हार्ट्स के नाम से एक हॉलीवुड फिल्म भी बन चुकी है, उसमें भी राजा की मूंछें नहीं थी।

कहा जाता है कि ताश के 52 पत्तों में से चारों किंग कार्ड्स इतिहास के कुछ महान राजाओं का प्रतिनिधित्‍व करते है। पहला- हुकुम का बादशाह प्राचीनकाल में इजरायल के किंग डेविड थे, दूसरा- चिड़ी का बादशाह कार्ड पर मेसाडोनिया के किंग सिंकदर महान हैं, तीसरे- ईंट का राजा रोमन किंग सीजर ऑगस्टस हैं। तो चौथे यानी पान का बादशाह माने जाते हैं फ्रांस के किंग शारलेमेन, जो रोमन साम्राज्‍य के भी पहले राजा था।

Check Also

सियासत के किले हैं , तो वे ढहेंगे भी@ वरिष्ठ पत्रकार राकेश अचल की बेबाक कलम से

🔊 Listen to this देश -दुनिया में दुर्ग यानि किले सत्ताधीशों के ही बनते आये …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-