बुजुर्ग नेताओं का कटेगा टिकट या युवाओं को मिलेगी तरजीह, भाजपा में मंथन जारी

भाजपा ने अब अपनी रणनीति में बदलाव किया है, इससे कई बुजुर्ग नेताओं के टिकट कटने की संभावनाएं बहुत कम हो गई हैं। 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 60 साल से अधिक उम्र वाले 10 नेताओं को टिकट दिए थे। ये सभी जनता के विश्वास पर खरे उतरे हैं।

@शब्द दूत ब्यूरो (14 दिसंबर, 2021)

भाजपा उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में दोबारा सत्ता हासिल करने के लिए फूंक-फूंक कर कदम बढ़ा रही है। पार्टी ने अब अपनी रणनीति में बदलाव किया है, इससे कई बुजुर्ग नेताओं के टिकट कटने की संभावनाएं बहुत कम हो गई हैं। भाजपा ने विधानसभा की एक-एक सीट के नफा-नुकसान के गणित पर मंथन शुरू कर दिया है। पार्टी पहले युवा चेहरों को ज्यादा तरजीह के मूड में थी।

इसके चलते लगभग 21 विधानसभा क्षेत्रों में युवा नेताओं ने भी पोस्टर-बैनर लगाकर अपनी दावेदारी जतना शुरू कर दिया था। नए समीकरण के बाद अब युवा-बुर्जुग दोनों को ही टिकट में प्राथमिकता देने पर फोकस करने जा रही है। सूत्रों ने बताया कि पार्टी के रणनीतिकारों ने कुछ बुजुर्ग विधायकों के सीटों पर आंतरिक सर्वे कराया है।

भाजपा ने 60 प्लस सीट जीतने का नारा दिया है, इस लक्ष्य को पार करने के लिए विधानसभा क्षेत्रों के समीकरण पर फिट बैठने वाले ही दावेदारों के पैनल में पहले नाम पर होंगे। सूत्रों का कहना है कि अस्वस्थता के मामलों को छोड़कर ज्यादात्तर बुर्जुग नेता वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में भी टिकट की दौड़ में प्रबल नंबर पर रहेंगे। माना जा रहा है कि पार्टी की इस रणनीति के बाद पिछले दफा के चार बुर्जुग नेताओं को छोड़ अन्य सभी इस बार भी चुनावी समर में कूदेंगे।

2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 60 साल से अधिक उम्र वाले 10 नेताओं को टिकट दिए थे। ये सभी जनता के विश्वास पर खरे उतरे हैं। इनमें देहरादून कैंट से हरबंस कपूर, कालाढुंगी से बंशीधर भगत, काशीपुर से हरभजन सिंह चीमा, अल्मोड़ा से रघुनाथ सिंह चौहान, डीडीहाट से विशन सिंह चुफाल, चौबट्टाखाल से सतपाल महाराज, रामनगर से दीवान सिंह बिष्ट, रायपुर से उमेश शर्मा काऊ, लालकुंआ से नवीन दुम्का व कर्णप्रयाग से सुरेंद्र सिंह नेगी शामिल हैं।

Check Also

पिथौरागढ़: पहाड़ पर तेज रफ्तार ने ले ली जान… 200 फीट खाई में गिरी कार, 4 लोगों की मौत

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (22 अप्रैल 2024) उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में भीषण …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-