Breaking News

ब्रेकिंग :हरीश रावत की बात पार्टी ने मानी, हटा दिया पद से

@नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो (22 अक्टूबर, 2021)

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को कांग्रेस हाईकमान ने पंजाब प्रभारी के पद से मुक्त कर दिया है। अब हरीश चौधरी को पंजाब और चंडीगढ़ का प्रभारी बनाया गया है। दो दिन पहले ही हरीश रावत ने राहुल और सोनिया गांधी से पंजाब प्रभारी के पद से मुक्त करने की अपील की थी। पार्टी ने रावत की बात मान ली है। हरीश रावत ने उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में अपनी व्यस्तता को लेकर यह अपील की थी। पंजाब में हरीश रावत की जिम्मेदारी अब हरीश चौधरी संभालेंगे।

हरीश चौधरी ने नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे को मैनेज करने में अहम भूमिका निभाई थी। दरअसल, सिद्धू इकबाल प्रीत सिंह को डीजीपी और एपीएस देओल को महाधिवक्ता बनाने से नाराज थे। यह नाराजगी इतनी बढ़ी कि सिद्धू ने अचानक इस्तीफा देकर कांग्रेस हाईकमान को सकते में डाल दिया लेकिन हरीश चौधरी ने पूरे मामले को बेहतरीन ढंग से मैनेज किया।

हरीश चौधरी राजस्थान सरकार में राजस्व मंत्री है। कांग्रेस को उम्मीद है कि पंजाब कांग्रेस प्रभारी बनाने के बाद राजस्थान की सीमा से सटी पंजाब की विधानसभा सीटों पर पार्टी को इसका फायदा मिलेगा। कैप्टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू मामले में भी पार्टी ने हरीश चौधरी को पर्यवेक्षक बना कर पंजाब भेजा था।

हरीश चौधरी को पंजाब का प्रभारी तो बना दिया गया लेकिन उनके सामने चुनौती भी कम नहीं हैं। पार्टी में उपजे असंतोष को खत्म करना ही सबसे बड़ी चुनौती है। पार्टी में कई नेता नाराज हैं तो वहीं सिद्धू की तल्खी भी कम नहीं है। कैप्टन अमरिंदर सिंह के बाद सिद्धू की नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से भी नहीं बन रही। कई मौकों पर उन्होंने अपनी ही सरकार की अलोचना की।

कांग्रेस छोड़ने का एलान कर चुके कैप्टन अमरिंदर सिंह आने वाले दिनों पार्टी की मुश्किलों को बढ़ा सकते हैं। कैप्टन अगले महीने अपनी नई पार्टी का एलान करेंगे। वह कह चुके हैं कि कई विधायक हमारे संपर्क है। विधानसभा चुनाव से पहले कई विधायक कांग्रेस से बगावत कर सकते हैं। कई कैप्टन अमरिंदर सिंह का दामन थाम सकते हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब के बड़े नेता हैं और उनका अपना जनाधार है।

Check Also

25 हजार करोड़ के बैंक घोटाले मामले में अजित पवार की पत्नी को क्लीन चिट

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (24 अप्रैल, 2024) 25 हजार करोड़ के बैंक …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-