Breaking News

उत्तराखंड: चुनाव से पहले गड़े मुर्दे उखाड़ने की कोशिश, हरीश रावत पर हरक सिंह रावत ने लगाए सनसनीखेज आरोप

@शब्द दूत ब्यूरो (20 अक्टूबर, 2021)

उत्तराखंड में 2022 के विधानसभा चुनाव से ठीक पहले एक ओर सियासत के गड़े मुर्दे उखाड़े जा रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और हरीश रावत के बीच जुबानी जंग भी तेज हो चली है। दोनों नेताओं के बीच जुबानी जंग का आलम यह है कि, अब दोनों एक दूसरे पर व्यक्तिगत हमले कर रहे हैं। कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने हरीश रावत के करीबी लोगों पर हरक सिंह रावत ने चरित्र हनन के मामले में उन को फंसाने की कोशिश का आरोप लगाया है।

हरक सिंह रावत का कहना है कि, 2016 में जब उन्होंने कांग्रेस छोड़ी थी तो उसके बाद हरीश रावत के करीबी लोगों ने कई लड़कियों से संपर्क कर और पैसे देकर उन पर झूठे आरोप लगाकर फंसाने की कोशिश की। जिसके सबूत उनके पास हैं। इतना ही नहीं हरक सिंह रावत का कहना है कि, 2016 में कांग्रेस छोड़ने के बाद हरीश रावत ने उन्हें जेल में डालने की पूरी कोशिश भी की, लेकिन उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिलने के कारण वे ऐसा नहीं कर सके।

हरक सिंह रावत ने आरोप लगाया कि एक मुख्यमंत्री के नाते हरीश रावत विधानसभा में उनके दफ्तर पर ताला लगाने गए। मुख्यमंत्री रहते हरीश रावत को उस समय यह लगा कि, उनके विधानसभा स्थित ऑफिस में पता नहीं कौन सा खजाना छिपा हुआ है। हरक सिंह यहीं नहीं रुके, उनका कहना है कि, भाजपा ने उनको सम्मान दिया जबकि, कांग्रेस में रहते हुए उन्हें फंसाने की कोशिश की गई है और जैनी प्रकरण उसका उदाहरण है।

वहीं, इस पूरे मामले पर कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा कि, आखिरकार इतने दिनों के बाद में हरक सिंह रावत को इस तरह की यादें क्यों आ रही हैं। वह तो हरक सिंह और हरीश रावत ही बता सकते हैं, लेकिन 2016 की बात अब 2021 में करने का कोई औचित्य नहीं बनता है।

Check Also

मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने किया श्री केदारनाथ धाम का निरीक्षण

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (22 अप्रैल 2024) रुद्रप्रयाग: उत्तराखंड की मुख्य सचिव …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-