Breaking News

दिल्‍ली की आबोहवा ‘बहुत खराब’, गाजियाबाद, नोएडा भी देश के सबसे प्रदूषित शहरों में

@नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो (17 अक्टूबर, 2021)

देश के कई शहरों में वायु प्रदूषण के चलते स्थितियां बिगड़ती जा रही है। एक बार फिर दिल्‍ली के अलावा हरियाणा और उत्तर प्रदेश के कई शहरों में भी प्रदूषण लोगों के खतरनाक स्‍तर तक पहुंच चुका है।

देश के सबसे प्रदूषित शहरों में उत्तर प्रदेश का बागपत पहले स्‍थान पर है और देश के सबसे प्रदूषित चार शहरों में से उत्तर प्रदेश के तीन शहर शामिल हैं। आलम ये है कि बागपत का वायु गुणवत्ता सूचकांक 400 के पार पहुंच चुका है। वहीं दिल्‍ली की हवा भी ‘बहुत खराब’ हो चुकी है। इस सूची में गाजियाबाद-नोएडा जैसे एनसीआर के इलाके भी शामिल हैं।

देश के सबसे प्रदूषित 10 शहरों में पांच शहर हरियाणा और तीन उत्तर प्रदेश के हैं। साथ ही इनमें राजस्‍थान के एक शहर के साथ ही देश की राजधानी दिल्‍ली भी शामिल है।

बागपत में वायु की गुणवत्ता बेहद खराब है और यहां का एक्‍यूआई स्‍तर 406 तक पहुंच चुका है। प्रदूषण के लिहाज से इसे सबसे गंभीर स्थिति माना जाता है। हालांकि अन्‍य शहरों की हालत भी बेहतर नहीं है। सबसे प्रदूषित 10 शहरों में से अन्‍य 9 शहरों की हालत भी अच्‍छी नहीं है। सभी शहरों का स्‍तर 300 से 400 के बीच है। इसे बहुत खराब माना जाता है।

एयर क्‍वालिटी इंडेक्‍स के अनुसार, देश के सबसे प्रदूषित शहरों में दूसरे स्‍थान पर गाजियाबाद का एक्‍यूआई 393 है। वहीं तीसरे स्‍थान पर पानीपत (393), चौथे स्‍थान पर नोएडा (364), पांचवे स्‍थान पर गुरुग्राम (351) और छठे स्‍थान पर दिल्‍ली (351) है. इसके बाद क्रमश: भिवाड़ी (347), फरीदाबाद (338), मानेसर (334) और बल्‍लभगढ़ (320) हैं।

वायु गुणवत्ता सूचकांक में प्रदूषण का स्‍तर 0-50 सबसे बेहतर माना जाता है। वहीं 51-100 को संतोषजनक, 101-200 तक मध्‍यम, 201-300 तक खराब, 301-400 तक बहुत खराब और 400-500 तक गंभीर माना जाता है।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

डायनासोर की तरह विलुप्त हो जाएगी कांग्रेस, राजनाथ सिंह ने रियलिटी शो ‘बिग बॉस’ से की तुलना

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (12 अप्रैल 2024) लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-