Breaking News

उत्तराखंड: सियासी उठापटक की एक बड़ी वजह टिकट की गारंटी, अभी चल रही बात

@शब्द दूत ब्यूरो (15 अक्टूबर, 2021)

विधानसभा चुनाव से पहले चल रही सियासी उठापठक में एक बड़ी वजह टिकट की गारंटी भी मानी जा रही है। भाजपा मेंआगामी चुनाव में कुछ विधायकों के टिकट कटने तय माने जा रहे हैं।

अगले साल की शुरुआत में होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले चल रही सियासी उठापठक खासकर भारतीय जनता पार्टी में एक बड़ी वजह टिकट की गारंटी भी मानी जा रही है। भाजपा के नजरिये से देखें तो आगामी चुनाव में कुछ विधायकों के टिकट कटने तय माने जा रहे हैं। इनमें भाजपा के साथ ही कांग्रेसी पृष्ठभूमि के विधायक भी शामिल हैं। इससे सशंकित जिन विधायकों और नेताओं के नाम दूसरे खेमों में जाने को लेकर चर्चा में हैं, वे पार्टी नेतृत्व से टिकट या फिर सत्ता में आने पर मंत्री पद चाहते हैं। यही वजह है कि ऐसे विधायक जोड़-तोड़ की कोशिशों में जुटे हैं।

दरअसल, उत्तराखंड बनने के बाद से सत्ता के मामले में मिथक भी बना हुआ है। वह है हर पांच साल बाद सत्ता में बदलाव। पिछली बार प्रचंड बहुमत से सत्तासीन हुई भाजपा इस मर्तबा यह मिथक तोड़ने की तैयारी में है। ऐसे में कसौटी पर खरा न उतर पाने वाले विधायकों के टिकट कटना तय माना जा रहा है।

ऐसे विधायकों की संख्या डेढ़ दर्जन के आसपास बताई जा रही है। जाहिर है कि चुनाव में फिर से प्रचंड बहुमत हासिल करने के मद्देनजर पार्टी कुछ नए चेहरों पर दांव खेलेगी और इसके लिए पुरानों के टिकट कटेंगे ही।

इसी साल अगस्त में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के उत्तराखंड दौरे के दौरान भी यह बात साफ हुई थी। हालांकि, पार्टी की ओर से बेहतर प्रदर्शन न कर पाने वाले विधायकों को स्वयं को साबित करने का मौका भी दिया गया है। बावजूद इसके सशंकित विधायकों व नेताओं के मन में किंतु-परंतु के बादल भी घुमड़ रहे हैं। वर्तमान में चल रही उठापठक को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है।

सशंकित विधायक व नेता भाजपा से आगामी चुनाव में कम से कम टिकट की गारंटी अवश्य चाहते हैं। इनमें से कुछ सत्ता में आने पर अभी से मंत्री पद का आश्वासन भी चाहते हैं। यही कारण भी है कि चुनाव से पहले पालाबदल का राजनीतिक दांव खेलने अथवा इस बारे में दबाव बनाने से भी वे गुरेज नहीं कर रहे। अब देखने वाली बात ये होगी कि पार्टी नेतृत्व इस चुनौती से किस तरह निबटता है, इस पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं।

Check Also

दिल्ली सरकार के दो वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ FIR दर्ज, अल्मोड़ा की एक अदालत ने जारी किए आदेश

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (12 अप्रैल 2024) पिथौरागढ़ः उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले की …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-