कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत की टिप्पणी पर पंजाब में नया बवाल 

@नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो (01 सितंबर, 2021)

पंजाब कांग्रेस में अंदरूनी कलह के बीच पार्टी प्रभारी हरीश रावत चंडीगढ़ पहुंचे और पार्टी नेताओं से मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनीं। इसके बाद उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू और उनके अधीन चार कार्यकारी अध्यक्ष ‘पंज प्यारे’ की तरह हैं। इस टिप्पणी से रावत विवादों में आ गए हैं। अकाली दल ने इसे धार्मिक अपमान कहा है और आरोप लगाया है कि नवजोत सिंह सिद्धू और उनके कार्यकारी अध्यक्षों की तुलना गुरु गोविंद सिंह द्वारा खालसा में शामिल किए गए “पंज प्यारों” से की है।

हरीश रावत जब ये बात कह रहे थे, तब सिद्धू उनके पीछे खड़े मुस्कुरा रहे थे। कुछ दिनों पहले ही रावत ने घोषणा की थी कि अगर सिद्धू अपने उन सलाहकारों को बर्खास्त नहीं करते हैं तो वह कर देंगे, जिन्होंने कश्मीर पर अपनी टिप्पणियों से हंगामा खड़ा किया था।

चंडीगढ़ में मीडिया से बात करते हुए रावत ने कहा, “यह मेरी जिम्मेदारी थी कि मैं पीपीसीसी प्रमुख से मिलूं, या मैं इन्हें पंज प्यारे कहूं।” फिर उन्होंने कहा कि उनका मतलब सिद्धू और चार कार्यकारी अध्यक्ष समेत पांच लोगों से है।

रावत के इस बयान से इससे अकाली दल नाराज हो गया है, जिसने आरोप लगाया कि हरीश रावत ने “धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई है” और उनसे माफी की मांग की है। पार्टी प्रवक्ता डॉ. चीमा ने कहा, “हरीश रावत को अपनी बात वापस लेनी चाहिए और सिख संगत से माफी मांगनी चाहिए।”

   

Check Also

काशीपुर :चैती मेले में मां बाल सुंदरी देवी मंदिर में आयोजित जागरण में निशा अरोरा के भजनों पर झूमे श्रद्धालु

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (20 अप्रैल 2024) काशीपुर ।  मां बाल सुंदरी …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-