Breaking News

पीएम मोदी से मिले पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र रावत, मिलेगी बड़ी जिम्मेदारी: मनीष वर्मा

@शब्द दूत ब्यूरो (3 अगस्त 2021) 

दिल्ली (मनीष वर्मा) । पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत दिल्ली में है। जहां त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की इस मुलाकात के दौरान उत्तराखंड की राजनीतिक को लेकर लंबी चर्चा की साथ ही प्रदेश में हो रहे विकास कार्य व चार-धाम यात्रा को लेकर भी त्रिवेंद्र रावत ने पीएम मोदी के सामने रोड मैप रखा।

उधर सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उन्हें पार्टी हाईकमान ने दिल्ली बुलाया है। मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद यह दूसरा मौका है जब पूर्व सीएम दिल्ली हाईकमान से मिलने गए हैं। इसी के साथ ही उनके दिल्ली दौरे को लेकर सियासी गलियारों में कयासबाजी शुरू हो गई है। हालांकि यह साफ नही हो पाया है कि पूर्व सीएम दिल्ली में बीजेपी संगठन से किन मुद्दों पर बात करने के लिए गए हैं। जानकारों की माने तो इतना तय है कि जल्द बीजेपी संगठन फिर पूर्व सीएम रावत को बडी जिम्मेदारी सौंपेगा। इसका सबसे बडा कारण राज्य में विस चुनाव 2022 है। जिसे देखते हुये संगठन पूर्व सीएम रावत की बेदाग छवि को भी भुनाना चाहेगा।

बीजेपी सूत्रों की माने तो राज्य में 2022 का चुनाव को देखते हुए रावत को बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है संगठन का भी मानना है कि सरकार को 4 साल तक त्रिवेंद्र रावत ने ही नेतृत्व दिया है ऐसे में राज्य की अधिकांश योजनाएं उन्हीं के नेतृत्व में संचालित की गई है ऐसे में पार्टी 2022 के चुनाव में बिना त्रिवेंद्र सिंह रावत के बिना उतरना संभव नहीं है क्योंकि अगर त्रिवेंद्र रावत बढ़-चढ़कर 2022 के चुनाव में आगे नहीं आते हैं तो मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस को भी बीजेपी के खिलाफ बोलने और हमलावर होने का बड़ा मौका मिलेगा इसी को भांपते हुए दिल्ली आलाकमान ने त्रिवेंद्र रावत को चर्चा के लिए बुला दिया है जिससे साफ है कि आने वाले कुछ दिनों में त्रिवेंद्र सिंह बीजेपी संगठन बड़ी जिम्मेदारी देगा इससे पार्टी पिछले 4 साल में उनके द्वारा किए गए विकास कार्यों को भी बना पाएगी और असंतुष्ट को भी साधने का काम कर पाएगी।

इससे पहले तीन दिन के दिल्ली प्रवास के दौरान सीएम रावत ने गृहमंत्री अमित शाॅह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह , राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा संगठन महामंत्री बीएल संतोष सहित कई बड़े बीजेपी के नेताओं से मुलाकात की थी साथ ही संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों से भी व्यक्तिगत मुलाकात कर चुके है। ऐसा माना जा रहा है कि पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र को हाईकमान फिर कोई बड़ी जिम्मेदारी सौंप सकती है। पिछले दिनों बीजेपी महामत्री बीएल संतोष उत्तराखण्ड आये थे। इस दौरान महामंत्री बीएल संतोष की त्रिवेन्द्र के निजी आवास पर मिलने पहुंचे थे। राजनीति के जानकार इसके भी अलग मायने निकाल रहा है।  राजनीति पण्डित बताते है कि त्रिवेन्द्र के प्रशासनिक और त्वरित फैसले लेने की क्षमता का हाईकमान और संघ कायल है। प्रदेश में हुए सत्ता परिवर्तन के दौरान बतौर पर्यवेक्षक दुष्यंत गौतम और डा० रमन सिंह त्रिवेन्द्र विकास माडल की प्रशंसा कर चुके है। भाजपा प्रदेश प्रभारी इसके बाद कई मंचों पर त्रिवेन्द्र को केन्द्र बड़ी जिम्मेदारी का संकेत दे चुके हैं।
हालांकि उनके करीबियों का कहना है कि त्रिवेन्द्र सिंह रावत कि यह मुलाकात बेहद गोपनीय रखी गयी है। फिलहाल इस संबंध में कुछ भी नही बताया जा सकता है कि केंद्र पूर्व सीएम को क्या जिम्मेदारी देने जा रहा है, लेकिन यह लगभग तय है कि बीजेपी आलाकमान पूर्व सीएम रावत को लेकर काफी गंभीर है और वह पिछले चार महीने में यह भांप गया है कि रावत को लेकर जो भी फीडबैक दिल्ली भेजी गयी थी वह एक सुनियोजित थी। जिसका लगभग पटाक्षेप हो चुका है। वही बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने भी त्रिवेन्द्र के दिल्ली दौरे को लेकर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है। अटकलबाजियां जो भी लेकिन सच्चाई ये है कि त्रिवेन्द्र सिंह रावत की  पीएम मोदी से एक लम्बी मुलाकात हो गई है।

(लेखक वाइस आफ नेशन के संपादक हैं) 

 

Check Also

काशीपुर:ए आर टी ओ विमल पांडे लीक से हटकर एक अधिकारी, उत्तराखंड में अपनी अनोखी और प्रेरणादायक कार्यशैली से देश भर में हैं चर्चित

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (01 मार्च 2024) काशीपुर। आमतौर पर सरकारी सेवा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-