Breaking News

गजब:कुएं की खुदाई में गृहस्वामी को मिला 700 करोड़ कीमत का पत्थर

@नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो (29 जुलाई, 2021)

जरा सोचिए, दुनिया का सबसे बड़ा नीलम आपको आंगन में यूं ही पड़ा मिल जाए तो! वो नीलम जिसकी बाजार में कीमत 700 करोड़ से भी ज्यादा हो। आपके होश पक्का उड़ जाएंगे। ऐसा ही कुछ श्रीलंका में एक परिवार के साथ हुआ। घर के पीछे कुएं की खुदाई करते हुए श्रीलंकाई व्यक्ति के हाथ यह खजाना लगा।

घटना श्रीलंका के रत्नपुरा की है। यहां हीरों के व्यापारी मिस्टर गोमेज घर के आंगन में कुएं की खुदाई करवा रहे थे। खुदाई के वक्त मजदूरों को यह नायाब चीज मिली। माना जाता है कि इस इलाके में रत्न काफी ज्यादा मात्रा में हैं। विशेषज्ञों की मानें तो अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस नीलम की कीमत 100 मिलियन डॉलर यानी करीब 700 करोड़ रुपये से ज्यादा है।

मिस्टर गोमेज को जो नीलम मिला है, उसका वजन करीब 510 किलो बताया जा रहा है। इसे सेरेंडिपिटी सफायर नाम दिया गया है। इसका मतलब होता है किस्मत से मिला नीलम। यह नीलम 2.5 मिलियन कैरेट का है। सुरक्षा कारणों से मिस्टर गोमेज ने अपना पूरा नाम नहीं बताया है। दरअसल यह कई नीलम का एक गुच्छा है, जो मिट्टी या कीचड़ की वजह से एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं।

बताया जा रहा है कि यह नीलम पिछले साल मिला था, लेकिन प्रशासन को इसे क्लीयरेंस देने में लंबा समय लग गया। इस रत्न से मिट्टी, कीचड़ व अन्य अशुद्धियां हटाने में उन्हें महीनों का समय लग गया। इसके बाद ही इसे सर्टिफिकेट दिया गया। सफाई के दौरान इससे काफी मात्रा में उच्च क्वालिटी के रत्न गिरते रहे। विशेषज्ञ अभी तक यह अनुमान नहीं लगा पाए हैं कि इसमें से कितने उच्च क्वालिटी के रत्न मिल चुके हैं।

रत्नपुरा को श्रीलंका के रत्नों की राजधानी कहा जाता है। यहां काफी ज्यादा मात्रा में रत्न पाए जाते हैं। श्रीलंका दुनियाभर में पन्ना, नीलम और अन्य बेशकीमती रत्नों के निर्यातक के तौर पर जाना जाता है। पिछले साल श्रीलंका ने रत्नों के निर्यात से 50 करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई की थी।

प्रिंस विलियम्स की पत्नी केट मिडिलटन ने अपनी शादी के वक्त श्रीलंका का नीलम ही पहना था। विशेषज्ञों का कहना है कि इतना बड़ा नीलम पहले नहीं देखा गया है और माना जा रहा है कि करीब 40 करोड़ साल पहले यह बना होगा।

 

 

Check Also

मशहूर रंगकर्मी नैनीताल निवासी जहूर आलम को संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (29 फरवरी, 2024) उत्तराखंड से वर्ष-2023 के लिए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-