Breaking News

कंप्यूटर पर पोर्न देखने का फर्जी पुलिस नोटिस भेजकर वसूलते थे जुर्माना, भारतीय मास्टरमाइंड समेत 3 गिरफ्तार

@नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो (27 जुलाई, 2021)

कंबोडिया और तमिलनाडु से संचालित हाई-टेक जबरन वसूली गिरोह के भारतीय मास्टरमाइंड समेत तीन को गिरफ्तार किया गया है। इस रैकेट का पता सोशल मीडिया के जरिए चला था, पुलिस ने इस पर स्वत: संज्ञान लिया और कार्रवाई शुरू कर दी।

ब्राउजर पॉप-अप विंडो और एडवेयर के जरिए फर्जी पुलिस नोटिस भेजा जाता था। इसमें पीड़ितों को कहा जाता था कि पोर्नोग्राफी देखने के लिए जुर्माना भरना होगा, वरना पुलिस उनकी गिरफ्तारी करेगी। जबरन वसूली के लिए यूपीआई और क्यूआर कोड का इस्तेमाल किया जाता था। इस अनूठी धोखाधड़ी का मास्टरमाइंड कंबोडिया, दक्षिण-पूर्व एशिया में है। बीस से ज्यादा खातों के जरिए पैसा क्रिप्टोकरेंसी के जरिए देश से बाहर जाने का संदेह है।

साइबर सेल के डीसीपी अनियेश रॉय के मुताबिक सोशल मीडिया शिकायत की निगरानी के दौरान यह पाया गया कि कुछ लोगों ने एक नोटिस के बारे में रिपोर्ट किया है। कुछ सोशल मीडिया यूजर्स ने बताया कि यह नोटिस उन्हें पुलिस मिला है। जिसमें कहा गया था कि वे पोर्नोग्राफी देख रहे थे जो एक प्रतिबंधित गतिविधि है, इसलिए उनके कंप्यूटर की सभी फाइलों को ब्लॉक कर दिया गया है। इसके लिए उन्हें 3000 रुपये का जुर्माना देने के लिए कहा जाता था। पीड़ितों ने यह भी बताया कि उनकी स्क्रीन पर यह मैसेज तब भी आया जब वे वेब ब्राउजर पर कोई भी अश्लील सामग्री नहीं खोज रहे थे।

सोशल मीडिया इनपुट के आधार पर केस दर्ज करने के बाद इस मामले में कार्रवाई शुरू की गई। फर्जी पॉपअप नोटिस की तकनीकी जांच से पता चला कि ये विदेश से आ रहे हैं। हालांकि, मनी ट्रेल की जांच में पता चला कि ठगी के पैसे तमिलनाडु में संचालित कई बैंक खातों में जा रहे थे। पुलिस की एक टीम तमिलनाडु गई, जांच में पता चला कि खाते फर्जी पतों पर खोले गए थे। पुलिस टीम ने एक सप्ताह से अधिक समय तक इस इलाके में डेरा डाला और चेन्नई, त्रिची, कोयंबटूर, उधगमंडलम और कई अन्य जगहों के बीच 2,000 किलोमीटर से अधिक की यात्रा की और अंत में स्थानीय मास्टरमाइंड बी धीनुशांत उर्फ धीनू सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

Check Also

डॉ. अजय कृष्ण विश्वेश: जिनके फैसले के बाद ज्ञानवापी में शुरू हुई पूजा, वे बने लखनऊ की यूनिवर्सिटी के नए लोकपाल

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (01 मार्च 2024) 31 जनवरी, 2024 बुधवार का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-