Breaking News

सावन के पहले सोमवार पर मंदिरों में दिल्ली से काशी तक दिखीं लंबी लाइनें

@नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो (26 जुलाई, 2021)

सावन का आज पहला सोमवार है और बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी में लोग उन्हें जल चढ़ाने के लिए सुबह से लाइन लगाए हुए हैं।

उत्तर प्रदेश में कांवड़ यात्रा नहीं हो रही है इसलिए पिछले साल जितनी भीड़ नहीं है, लेकिन फिर भी लोग दर्शन करने के लिए और बाबा को जल चढ़ाने के लिए आ रहे हैं। मंदिर में गर्भ गृह में  प्रवेश की इजाजत नहीं है, झांकी दर्शन हो रहा है और माइक से कोविड प्रोटोकॉल के एहतियात भी बताई जा रही हैं, लेकिन फिर भी कुछ लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं। राजधानी दिल्ली के मंदिरों में लोग सुबह से ही जल चढ़ाने के लिए पहुंच गए। वहीं मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल मंदिर में भी श्रद्धालु पूजा-अर्चना के लिए पहुंचे।

बता दें कि मथुरा का प्रसिद्ध द्वारकाधीश मंदिर भी पवित्र महीने श्रावण के लिए पूरी तरह तैयार है, जहां कोरोना वायरस दिशानिर्देशों का पालन करते हुए इस अवधि के दौरान विभिन्न धार्मिक गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। अधिकारियों का कहना है कि बिना मास्क पहने कहीं भी घुसने नहीं दिया जाएगा।

सावन का पहला सोमवार हिंदुओं के लिए काफी महत्व रखता है। सावन के महीने में बहुत से शिव भक्त सोमवार का व्रत करते हैं, ऐसी मान्यता है कि सावन के पहले सोमवार में व्रत रखने से भगवान शिव की भक्ति जीवन में समृद्धि और खुशी सुनिश्चित करते हैं। श्रावण का महीना भगवान शिव की कृपा पाने के लिए सबसे शुभ महीना माना जाता है।  

हिंदी पंचांग के अनुसार, आषाढ़ के महीने के बाद सावन का माह आता है. हिंदू कैलेंडर के अनुसार 24 जुलाई, 2021 को समाप्त था। जिसके बाद श्रावण का महीना  25 जुलाई से शुरू हो चुका है। वहीं सावन का आखिरी सोमवार 16 अगस्त को होगा।
 

Check Also

डॉ. अजय कृष्ण विश्वेश: जिनके फैसले के बाद ज्ञानवापी में शुरू हुई पूजा, वे बने लखनऊ की यूनिवर्सिटी के नए लोकपाल

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (01 मार्च 2024) 31 जनवरी, 2024 बुधवार का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-