Breaking News

छह साल से सरकार में रहने के बावजूद मोदी सरकार का जिम्मेदारी से मुंह मोड़ना हास्यास्पद :दीपक बाली

काशीपुर । आम आदमी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं राज्य आंदोलनकारी दीपक बाली ने देश में बढ़ती मंहगाई के लिए भाजपा की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया है। श्री बाली ने कहा है कि लगातार पेट्रोलियम पदार्थों व घरेल गैस सिलेंडर की कीमतों में वृद्धि ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है।

आज यहाँ जारी एक बयान में दीपक बाली ने कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विपक्ष में थे तो पेट्रोलियम कीमतों में बढ़ोतरी को केन्द्र की नाकामी बताते थे। आज वही नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद  हास्यास्पद बात कह रहे हैं कि पेट्रोलियम कीमतें पूर्व की सरकारों की वजह से बढ़ रही हैं।

श्री बाली ने कहा कि छह साल में भी ये सरकार अपनी जिम्मेदारी जनता के प्रति नहीं निभा पाई। हर तरफ मंहगाई से जनता त्रस्त है। एक माह में दो दो बार सिलेंडर के दाम बढ़ाकर मोदी सरकार नेे अपनी जन विरोधी होने का सूबूत दिया है। आप नेता दीपक बाली ने कहा कि इससे साफ जाहिर है कि केंद्र की मोदी सरकार नाकाम साबित हुई है। पहले भाजपा नेता तेल की कीमतों को लेकर धरना प्रदर्शन करते नहीं थकते थे तो फिर आज क्यों चुप हैं?आप नेता दीपक बाली ने कहा कि छह सालों के भीतर केंद्र की मोदी सरकार ने पेट्रोल पर उत्पादन शुल्क 23.78 रुपये प्रति लीटर एवं डीजल पर 28.37 रुपये प्रीत लीटर अतिरिक्त बढ़ोतरी कर दी है।वहीं मोदी सरकार में मुनाफाखोरों की चांदी हो रही है। मोदी सरकार ने बार-बार उत्पादन शुल्क बढ़ाकर मुनाफाखोरी की सभी हदें पार कर दी हैं जबकि कोविड-19 के इस समय में देशवासियों को राहत दी जानी चाहिए थी। कच्चे तेल की कीमतों में कमी के बावजूद केंद्र द्वारा रेट बढ़ाए जानामोदी सरकार की गलत नीतियों को प्रदर्शित करता है।

श्री बाली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक पुराना वीडियो जारी करते हुए कहा कि जो मोदी पेट्रोलियम पदार्थों व गैस की कीमतें बढ़ने पर तत्काल केंद्र सरकार को दोषी माना करते थे वह आज अपनी सरकार द्वारा बढाई गई कीमतों पर भी संज्ञान ले और जनता को राहत प्रदान करें।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

केदारनाथ यात्रियों को ले जा रहे हेलीकॉप्टर की इमर्जेंसी लैंडिंग,सभी यात्री सुरक्षित देखिए घटना का खौफनाक वीडियो

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (24 मई 2024) केदारनाथ । आज प्रातः लगभग …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-