Breaking News

उत्तराखंड में मातृशक्ति के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता:पीएन शर्मा

@शब्ददूत ब्यूरो

मंजेड़ा भरतपुर (पौड़ी गढ़वाल)।अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर नैनीडांडा ब्लॉक के राजकीय आदर्श उच्च प्राथमिक विद्यालय मंजेड़ा भरतपुर में ‘महिलाओं का विकास में योगदान’ विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया गया। वासुकी फाउंडेशन द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में बड़ी तादाद में स्थानीय मातृशक्ति, स्कूली बच्चों और स्थानीय समाजसेवियों ने शिरकत की।

वासुकी फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष और समाजसेवी पीएन शर्मा ने कहा कि पहाड़ के विकास में महिलाओं का अहम योगदान रहा है। महिलाएं ग्रामीण इलाकों में जल,जंगल और जमीन के रखरखाव में अहम भूमिका निभाती हैं। पीएन शर्मा ने कहा कि उत्तराखंड राज्य निर्माण में नारी शक्ति का अहम योगदान रहा है, जिसे नकारा नहीं जा सकता। उन्होनें कहा कि अब उत्तराखंड राज्य के विकास में भी महिलाएं अहम किरदार अदा कर रही हैं।

इस मौके पर वासुकी फाउंडेशन के संरक्षक बीएन शर्मा, हरिशरण सुंदरियाल, वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार प्रदीप वेदवाल, अनिल मढ़वाल, समाजसेवी एवं कांग्रेसी नेता रघुवीर बिष्ट,पूर्व ब्लाक प्रमुख मधु बिष्ट, पूर्व जिला पंचायत सदस्य और विधायक प्रतिनिधि मुन्नी ध्यानी, पूर्व जिला पंचायत सदस्य सुशीला रावत, हास्य कलाकार किशना बगोट आदि ने अपने विचार प्रकट किये।

वासुकी फाउंडेशन के अध्यक्ष पीएन शर्मा ने क्षेत्र की महिलाओं को अंगवस्त्र, प्रतीक चिन्ह, साड़ी और महिला मंगल दल को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम का संचालन चंद्रशेखर पोखरियाल और प्रेम प्रकाश मंडवाल ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर वयोवृद्ध लेखक जोतसिंह नेगी ‘उत्तरांचली’ के उपन्यास ‘नीचा घर’ का विमोचन भी हुआ। इस उपन्यास का प्रकाशन वासुकी फाउंडेशन ने किया है।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

क्या सचमुच अहंकार से आहत है संघ परिवार@वरिष्ठ पत्रकार राकेश अचल का विश्लेषण

🔊 Listen to this नयी सरकार बनने के बाद से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने …

googlesyndication.com/ I).push({ google_ad_client: "pub-