Breaking News

रेप के आरोप के बाद महिला से की शादी, फिर झगड़े से तंग आकर पहाड़ी से खाई में फेंक दिया

@नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो (27 जुलाई, 2021)

दिल्ली में एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है। यहां एक शख्स ने, जिसपर एक महिला ने रेप का आरोप लगाया था, उससे शादी कर ली थी, लेकिन शादी के बाद झगड़ों से तंग आकर उसे नैनीताल ले गया और फिर वहां से उसे पहाड़ी से नीचे खाई में धक्का दे दिया।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, डाबड़ी थाना इलाके में रहने वाले 24 साल के एक सेल्समैन राजेश राय ने अपनी पत्नी बबीता को नैनीताल ले जाकर पत्नी को खाई में फेंक दिया। पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर शव बरामद करने नैनीताल गयी है। राजेश राय उत्तराखंड के उधम सिंह नगर का रहने वाला है।

डीसीपी द्वारका संतोष कुमार मीणा के मुताबिक, पिछले साल 14 जुलाई को 29 साल की बबीता ने एफआईआर दर्ज कर आरोप लगाया था कि राजेश रॉय ने शादी का झांसा देकर उसके साथ रेप किया। इसी शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज की गई थी। आरोपी को 8 अगस्त 2020 को गिरफ्तार किया गया था और तिहाड़ जेल भेज दिया गया था। कुछ दिनों बाद, महिला ने एक हलफनामे में कहा है कि वह अपनी शिकायत वापस लेना चाहती है और वो आरोपी से शादी कर लेगी।

आरोपी को 10 अक्टूबर 2020 को कोर्ट ने जमानत दे दी थी और उसने महिला से शादी कर ली। बबीता का परिवार दिल्ली के महेंद्र पार्क इलाकों में रहता है। आरोपी ने जेल और पुलिस से बचने के लिए शादी तो कर ली लेकिन लड़की के परिजनों का आरोप है कि उसे शादी के बाद से लगातार परेशान किया जाता था, उसके साथ मारपीट की जाती थी और आरोपी अक्सर लड़की से झगड़ा किया करता था, जिसके बाद लड़की अपने मायके आ गई थी।

इसके बाद आरोपी समझा-बुझा कर बबीता को 11 जून, 2021 को अपने घर ऊधमसिंह नगर ले गया। अगले ही दिन बबीता का फोन बंद हो गया, जिससे घबराए हुए घरवालों ने कोर्ट के जरिए कानूनी करवाई की मांग की।

दिल्ली पुलिस ने इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस के जरिए आरोपी राजेश राय को गिरफ्तार कर लिया। उसकी आखिरी लोकेशन नैनीताल मिली थी जबकि बबीता के फोन की लास्ट लोकेशन भी नैनीताल में ही मिली। पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया बबीता से आए दिन होने वाले झगड़ों से परेशान होकर वो अपनी पत्नी को नैनीताल ले गया और उसे खाई से धक्का दे दिया था। दिल्ली पुलिस बबिता के शव की तलाश कर रही है।

Check Also

स्लेट से टैबलेट तक का सफर@राकेश अचल

🔊 Listen to this रविवार यानि छुट्टी का दिन।आज के दिन हम न सियासत की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *