Breaking News

खुशखबरी: अगर बैंक डूबा तो नब्बे दिनों के अंदर ही मिल जाएंगे बीमे के पांच लाख रुपये

@नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो (28 जुलाई, 2021)

पिछले कुछ सालों में पीएमसी सहित कई अन्य बैंकों पर अनियमितताओं के आरोपों के चलते बैंक ग्राहकों का पैसा बैंक में फंसा है। ऐसे में खाताधारकों के हितों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए केंद्र सरकार पहले से मौजूद कानून में एक नया संशोधन लाई है, जिसके तहत एक तय अवधि में ग्राहकों को उनका फंसा हुआ बीमा का पैसा मिल जाएगा।

सरकार की कैबिनेट मीटिंग में यह बिल संशोधन पास किया गया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मीटिंग के बाद एक प्रेस ब्रीफिंग में बताया कि इस संशोधित बिल को इसी मॉनसून सत्र में पेश किया जाएगा।

वित्त मंत्री सीतारमण ने बताया कि कैबिनेट ने आज डिपाजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कारपोरेशन बिल में एक संशोधन पास किया है, जो ग्राहकों के डिपॉजिट पर इंश्योरेंस कवरेज को बढ़ाएगा और अगर बैंक डूबता है या वित्तीय दबाव में आता है, तो डिपॉजिटर्स का बीमा का पैसा मिलने में जितना वक्त लगता है, उसे कम करेगा। उन्होंने बताया कि बिल में संशोधन के बाद यह नए नियम के तहत लगभग 98.3 डिपॉजिटर्स को कवर किया जाएगा।

बिल में इस संशोधन के तहत अगर कोई बैंक मोरेटोरियम में चला जाता है, यानी डूबने की स्थिति में आ जाता है या फिर किसी वित्तीय दबाव में आ जाता है तो यह नया कानून लागू हो जाएगा। पहले 45 दिनों में बैंक को बीमा कंपनी को सब कुछ हैंडओवर करना होगा। इसके बाद 90 दिनों में डिपॉजिटर्स को उनके बीमा का पैसा मिल जाएगा, चाहे तब तक बैंक की समस्या का हल निकला हो या नहीं।

Check Also

अपनी -अपनी यात्राओं के नतीजे@किसको क्या मिला, एक विश्लेषण वरिष्ठ पत्रकार राकेश अचल की कलम से

🔊 Listen to this राहुल गांधी की 3250 किमी की यात्रा का समापन होने के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *