Breaking News

जागेश्वर मंदिर में अभद्रता करने वाले भाजपा सांसद उत्तराखंड पुलिस पर भी लगा चुके हैं आरोप

@शब्द दूत ब्यूरो (1 अगस्त 2021)

जागेश्वर धाम में गाली गलौज करने वाले भाजपा सांसद धर्मेंद्र कश्यप पहले से विवादों में रहे हैं। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों से भी उलझते रहे हैं।

2020 में  सांसद धर्मेंद्र कश्यप ने  उत्तराखंड पुलिस पर अवैध वसूली के गंभीर आरोप लगाये थे। इसके लिए उन्होंने सीधे उत्तराखंड के तब के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को पत्र भी लिखा था। धर्मेंद्र कश्यप के पत्र पर तुरंत कार्रवाई भी हुई थी और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों को जांच के आदेश भी दिये थे। पत्र में सासंद धर्मेंद्र कश्यप ने नैनीताल और ऊधमसिंह नगर पुलिस पर अवैध वसुली के आरोप लगाये थे। 

सांसद धर्मेंद्र कश्यप ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को जो पत्र लिखा था उसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि नैनीताल और उधम सिंह जनपद की पुलिस वाहनों से ओवरलोडिंग और अवैध खनन का खूब कारोबार करा रही है। उत्तराखंड से लेकर उत्तर प्रदेश की सीमा तक जमकर अवैध वसूली की जा रही है। दोनों जिलों की पुलिस महीना लेकर ओवरलोडिंग उपखनिज का परिवहन करा रही है। 

2019 में लोकसभा चुनाव के नामांकन के दौरान भी बरेली में एक दारोगा से अभद्र व्यवहार करते हुए गालियाँ दी थी। दरअसल नामांकन के आखिरी दिन जब धर्मेंद्र कश्यप नामांकन कराने पहुंचे तो उनके साथ ज्यादा लोग थे। गेट के बाहर सिपाहियों और दूसरे पुलिस के अधिकारियों के साथ बारादरी थाने में तैनात दारोगा अंकित कुमार ड्यूटी पर थे। जब धर्मेंद्र कुमार अपने समर्थकों के साथ अंदर जाने लगे तो अंकित ने उन्हें प्रत्याशी के साथ सिर्फ चार लोगों के अंदर जाने का हवाला देते हुए रोका। जिस पर दोनों के बीच बहस हुई । दारोगा ने आरोप लगाया  कि सांसद ने उन्हें अपशब्द कहे। जबकि उन्होंने इसलिए रोका था क्योंकि अंदर जाने की सिर्फ पांच लोगों को ही अनुमति थी

 

Check Also

ब्रेकिंग :62 वर्षीय बीडीसी सदस्य का शव लहूलुहान हालत में मिला, सिर पर वार कर की गई हत्या, पुलिस मौके पर

🔊 Listen to this हत्या को लेकर वहाँ सनसनी फैल गई है। @शब्द दूत ब्यूरो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *