Breaking News

चारधाम यात्रा: कुंड में डुबकी लगाने, घंटी बजाने पर भी बैन

@शब्द दूत ब्यूरो (18 सितंबर, 2021)

कोविड-19 महामारी के कारण लंबे समय तक स्थगित रहने के बाद इस वर्ष की चारधाम यात्रा आज यानी 18 सितंबर से शुरू हो रही है। उत्तराखंड उच्च न्यायालय द्वारा चारधाम यात्रा पर रोक हटाए जाने के एक दिन बाद राज्य सरकार ने कोविड-19 संबंधी नियमों के सख्त अनुपालन के साथ विस्तृत मानक प्रचालन विधि (एसओपी) जारी किया है।

उच्च गढवाल हिमालयी क्षेत्र के चारधाम के नाम से प्रसिद्ध बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री मंदिर हर साल अप्रैल-मई में दर्शनों के लिए खुलते हैं लेकिन इस बार कोविड-19 की दूसरी लहर के कारण यह यात्रा शुरू नहीं हो पाई।

उच्च न्यायालय के श्रद्धालुओं की संख्या सीमित रखे जाने के निर्देशों के मद्देनजर एसओपी में बदरीनाथ में प्रतिदिन अधिकतम 1000, केदारनाथ में 800, गंगोत्री में 600 और यमुनोत्री में 400 श्रद्धालुओं की संख्या निर्धारित की गई है।

इसके अलावा राज्य के बाहर से आने वाले तीर्थयात्रियों को उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर पंजीकरण कराना होगा और उसी वक्त उन्हें कोविड मुक्त रिपोर्ट या टीकाकरण का प्रमाण-पत्र अपलोड करना होगा।

बच्चों, बीमार लोगों और अति वृद्धों को यात्रा की अनुमति नहीं दी गई है। मंदिर में दर्शन हेतु एक बार में तीन श्रद्धालु ही प्रवेश‌ करेंगे। मंदिर में मूर्तियों या घंटियों को छूने पर मनाही होगी।

Check Also

अपनी -अपनी यात्राओं के नतीजे@किसको क्या मिला, एक विश्लेषण वरिष्ठ पत्रकार राकेश अचल की कलम से

🔊 Listen to this राहुल गांधी की 3250 किमी की यात्रा का समापन होने के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *