Breaking News

बेहड़ पर मुकदमे से कुपित कांग्रेसियों ने पुतला दहन किया

देहरादून। जनपद ऊधमसिंहनगर के रूद्रपुर महानगर में चलाये जा रहे अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान रूद्रपुर सब्जी मण्डी में व्यापारियों की दुकानें अवैध तरीके से तोडे जाने तथा कांग्रेस नेता एवं पूर्व मंत्री तिलकराज बेहड़ पर लगाये गये झूठे मुकदमों के विरोध में देहरादून महानगर के कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा के नेतृत्व में मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया।
ज्ञातव्य हो कि उधमसिंहनगर के रूद्रपुर सब्जी मण्डी में अतिक्रमण विरोधी अभियान के तहत नगर निगम प्रशासन रूद्रपुर द्वारा व्यापारियों की दुकानो में तोड़फोड़ की गई जिसका विरोध करने पर कांगे्रस नेता एवं पूर्व मंत्री तिलकराज बेहड़ पर सरकारी काम में बाधा का मुकदमा दर्ज किया गया जिसका विरोध करते हुए कांग्रेस पार्टी ने प्रदेशभर में जिला मुख्यालयों पर भाजपा सरकार का पुतला दहन किया गया।

कांग्रेसजनो ने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी रूद्रपुर में भाजपा सरकार के दबाव में निगम द्वारा की गई इस कार्रवाई की घोर निन्दा करती है। भाजपा सरकार द्वारा उच्च न्यायालय के आदेशों की आड़ में अतिक्रमण विरोधी अभियान के नाम पर रूद्रपुर सब्जीमण्डी में व्यापारियों के निर्माण ध्वस्त कर उनकी रोजी-रोटी पर लात मारने का काम किया है जिसका कांग्रेस पार्टी विरोध करती है। जिस प्रकार रूद्रपुर प्रशासन ने तानाशाहीपूर्ण रवैया अपनाते हुए छोटे-छोटे व्यापारियों की दुकानों को जबरन ध्वस्त कर दिया उससे भाजपा का गरीब एवं व्यापारी विरोधी चेहरा बेनकाब होता है। कांग्रेसजनों ने कहा कि भाजपा सरकार तानाशाहीपूर्ण रवैया अपना रही है इसीलिए स्थानीय प्रशासन द्वारा इस कार्रवाई का विरोध करने पर व्यापारियों पर लाठी चार्ज किया गया तथा व्यापारियों का नेतृत्व कर रहे कांग्रेस नेता एवं पूर्व मंत्री तिलकराज बेहड जब प्रशासन की इस कार्रवाई का शांतिपूर्ण तरीके से धरने पर बैठकर विरोध करने लगे तो उन पर झूठे मुकदमे लाद दिये गये हैं।
पुतला दहन करने वालों में अनुशासन समिति अध्यक्ष प्रमोद कुमार सिह, पूर्व विधायक राजकुमार, प्रवक्ता डाू0 आर0पी0 रतूडी, महामंत्री गोदावरी थापली, राजेश शर्मा, नागेश रूडी समेत सैकड़ों कांग्रेसजन शामिल थे।

विज्ञापन

 

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

स्लेट से टैबलेट तक का सफर@राकेश अचल

🔊 Listen to this रविवार यानि छुट्टी का दिन।आज के दिन हम न सियासत की …