Breaking News

चंद्रयान – 2 उतरने से पहले क्रैश हुआ लैंडर, असमंजस की स्थिति

बेंगलुरु।  चंद्रयान-2के लैंडर ‘विक्रम का चांद पर उतरते समय जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया। सपंर्क तब टूटा जब लैंडर चांद की सतह से 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर था। लैंडर को रात लगभग एक बजकर 38 मिनट पर चांद की सतह पर लाने की प्रक्रिया शुरू की गई, लेकिन चांद पर नीचे की तरफ आते समय 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर जमीनी स्टेशन से इसका संपर्क टूट गया। ‘विक्रम ने ‘रफ ब्रेकिंग और ‘फाइन ब्रेकिंग चरणों को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया, लेकिन ‘सॉफ्ट लैंडिंग से पहले इसका संपर्क धरती पर मौजूद स्टेशन से टूट गया। इसके साथ ही वैज्ञानिकों और देश के लोगों के चेहरे पर निराशा की लकीरें छा गईं। इसरो अध्यक्ष के. सिवन इस दौरान कुछ वैज्ञानिकों से गहन चर्चा करते दिखे। उन्होंने घोषणा की कि ‘विक्रम लैंडर को चांद की सतह की तरफ लाने की प्रक्रिया योजना के अनुरूप और देखी गई, लेकिन जब यह 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर था तो तभी इसका जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया। डेटा का अध्ययन किया जा रहा है।

इसरो के वैज्ञानिकों के साथ पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए कहा कि आपने मेहनत की। कभी-कभी ऐसा होता है है। मैं आपके साथ हूं। 

विक्रम लैंडर से संपर्क टूटने के बाद जब सवाल किया गया कि क्या लैंडर क्रैश हो गया है? इस पर इसरो के वैज्ञानिक देवी प्रसाद कार्णिक ने जवाब दिया कि डाटा का विश्लेषण किया जा रहा है। हमारे पास अभी तक कोई परिणाम नहीं है। इसमें समय लगता है। अभी कुछ भी कहना सही नहीं है। वहीं चंद्रयान 2 मिशन के प्रोजेक्ट डायरेक्टर अमिताभ ने कहा कि मिशन नाकाम नहीं हुआ है बल्कि हमे आंशिक सफलता मिली है, हम बहुत करीब पहुंचे। ऑर्बिटर लैंडर की तस्वीरें भेजेगा। ऑर्बिटर अभी भी ट्रैक पर है और डाटा भेज रहा है।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

ब्रेकिंग :62 वर्षीय बीडीसी सदस्य का शव लहूलुहान हालत में मिला, सिर पर वार कर की गई हत्या, पुलिस मौके पर

🔊 Listen to this हत्या को लेकर वहाँ सनसनी फैल गई है। @शब्द दूत ब्यूरो …