Breaking News

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री का चेहरा होने के सवाल पर सतपाल महाराज काशीपुर में बोले – मुझसे मत पूछो ये…

काशीपुर । मेरे बड़े नेताओं से पूछो मेरे मुख्यमंत्री बनने के बारे में। मुझसे मत पूछो ये सवाल। उत्तराखंड के केबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने आज काशीपुर में पत्रकारों के सवालों के जबाब देते हुए ये बात कही। 

उत्तराखंड के  पर्यटन और सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज आज यहाँ कई योजनाओं का शुभारंभ करने आये थे। इसी दौरान पत्रकारों ने उनसे बात की। जब उनसे पूछा गया कि आपके मुख्यमंत्री का चेहरा बनने के बारे में क्या कहना है तो उन्होंने मुस्कान बिखरते हुये कहा कि ये बात बड़े नेताओं से पूछिये। वहीं सतपाल महाराज ने कहा  वह महाभारत सर्किट को विकसित करना चाहते हैं। पूरे राज्य में  धार्मिक सर्किट बनाये जाने की प्रक्रिया चल रही है। हे हैं। इसमें कुमाऊं और गढ़वाल के कुल 24 मंदिरों को 12 धार्मिक सर्किट  में लाया जायेगा। जिसमे 12 कुमांऊ व 12 गढ़वाल के मंदिर हैं। सतपाल महाराज ने कहा कि काशीपुर के द्रोणासागर और गिरीताल को भी पर्यटन सर्किट में लाने के पूरे प्रयास किये जाएंगे।

सतपाल महाराज ने बताया कि काशीपुर के प्रसिद्ध मोटेश्वर महादेव मंदिर को शिव सर्किट, गुरुद्वारा ननकाना साहिब को गुरुद्वारा सर्किट और गोविषाण टीले को बौद्ध सर्किट में शामिल किया है।  केंद्र सरकार ने इसे बड़ा बताते हुए छोटा करने को कहा है। इसमें काशीपुर का द्रोणासागर भी शामिल है। उन्होंने कहा प्रथम चरण में द्रोणासागर विकास के लिये 15.89 करोड़ की डीपीआर बनाई गई है। जबकि दूसरे चरण में गिरीताल की डीपीआर बनाई जाएगी। उन्होंने कहा हल्द्वानी शहर वह उसके उपनगरीय क्षेत्रों में वर्ष 2051 की पेयजल आवश्यकता और ऊधमसिंह नगर के करीब 50 हजार हेक्टेयर  क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रस्तावित 2584.10 करोड़ की जमरानी बांध परियोजना का शीघ्र कार्य शुरू करने के लिये सरकार प्रतिबद्ध है। योजना के तहत 14 मेगावाट क्षमता का जल विद्युत गृह निर्मित कर प्रतिवर्ष 63.4 मिलियन यूनिट बिजली उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया है। इससे पहले केबिनेट मंत्री सतपाल महाराज का भाजपा नेताओं ने स्वागत किया। जिसमें मेयर ऊषा चौधरी,  जसवीर सिंह सैनी बबलू चौधरी, दिनेश चंद्र मिश्रा, अमित नारंग, राकेश लखेड़ा, अजय कश्यप आदि प्रमुख थे।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

43 साल पहले 3500 शेयर खरीदकर भूल गया, अब कीमत 1,448 करोड़ रुपए

🔊 Listen to this @नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो इसे कहते हैं ऊपर वाला जब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *