Breaking News

उत्तराखंड में दो दिन की बारिश ने कुमाऊं क्षेत्र में ढाया कहर, 47 की मौत

@शब्द दूत ब्यूरो (20 अक्टूबर, 2021)

उत्तराखंड में भारी बारिश से हुई तबाही में कुल 47 लोग अब तक जान गंवा चुके हैं। राज्य के कुमाऊं क्षेत्र में भारी बरसात और भूस्खलन ने कहर ढाया है। उत्तराखंड के नैनीताल, हल्द्वानी, ऊधम सिंह नगर और चंपावत जिले में भारी बारिश और भूस्खलन तबाही लेकर आया। इनमें से 28 लोग नैनीताल और 6-6 लोगों की मौत अल्मोड़ा एवं चंपावत में हुई। एक-एक शख्स की मौत पिथौरागढ़ और ऊधम सिंह नगर जिले में हुई है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से पीएम मोदी ने बात की है। वायुसेना को भी बचाव कार्य में लगाया गया है।

भारी बारिश के कारण नैनीताल का संपर्क उत्तराखंड के दूसरे इलाकों से टूट गया था, लेकिन इसे अब बहाल कर दिया गया है। नैनी झील उफना गई है। भारी बारिश के बीच झील का पानी आसपास के इलाकों तक पहुंच गया है।

खराब मौसम और लगातार बारिश के बावजूद नैनीताल में बंद सड़कों को खोल दिया गया है, मलबा हटा दिए गए हैं और पर्यटक स्थल का संपर्क बहाल कर दिया गया है। फंसे हुए पर्यटक कालाढूंगी और हलद्वानी के रास्ते अपने घरों की ओर रवाना हो रहे हैं।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बारिश से बेहाल इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। उन्होंने प्रभावित लोगों से बातचीत की और जानमाल के नुकसान का आकलन किया। बारिश में मारे गए लोगों के लिए बीजेपी सरकार ने 4-4 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया है। जिनका घर ध्वस्त हुआ है, उन्हें 1.10 लाख रुपये मिलेंगे। मवेशियों को मारे जाने पर भी क्षतिपूर्ति दी जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी फोन पर सीएम धामी से आपदा से उपजे हालातों को लेकर चर्चा की है। केंद्र सरकार ने हरसंभव मदद का भरोसा भी दिया है। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्य में पहले ही जुटी हैं।

Check Also

काशीपुर : पासी या अन्य किसी को टिकट मिला तो उन्हें चुनाव लड़वायेंगे चीमा, प्रेस कांफ्रेंस में अपने पुत्र की फिर दावेदारी पेश करते हुए खुद के विधायकी कार्यकाल की उपलब्धियां गिनायी, देखिए वीडियो

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (29 नवंबर 2021) काशीपुर । भाजपा विधायक हरभजन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *