Breaking News

उत्तराखंड में बारिश के कहर ने लील ली कई जिंदगियां, पहाड़ से मैदान तक बरसा पानी, सीएम ने की पैनिक न होने की अपील, देखिए वीडियो

@शब्द दूत ब्यूरो (19 अक्टूबर 2021)

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में बारिश कहर बनकर बरस रही है। कुमाऊं में बारिश के कारण मलबे में दबकर अभी तक सात लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि अभी ये आंकडा बढ़ सकता है। ऐसी खबरें आ रही हैं। उधर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बारिश के बाद की राज्य की स्थिति को लेकर अधिकारियों से जानकारी ली साथ ही लोगों से ज्यादा पैनिक न होने की अपील की। 

आज सबेरे सुबह नैनीताल जनपद में रामगढ़ की धारी तहसील में दोषापानी और तिशापानी में बादल फटने से भारी तबाही हुई है। यहाँ श्रमिकों की झोपड़ी पर दीवार गिर गई। जिसमें सात लोग मलबे में दब गए। जिसमें से हयात सिंह और उनकी माता के शव बरामद हुए। हयात सिंह की पत्नी, तीन बेटियां और एक बेटा अब भी मलबे में दबे हैं। राहत और बचाव कार्य जारी है। जबकि खैरना में झोपड़ी में पत्थर गिरने से दो लोगों की मौत की खबर है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को सचिवालय स्थित राज्य आपदा कंट्रोल रूम जाकर प्रदेश में बारिश से हुए नुकसान की जानकारी ली। मुख्यमंत्री कल से सभी जिलाधिकारियों से हर पल की अपडेट ले रहे हैं। मुख्यमंत्री अतिवृष्टि से प्रभावित क्षेत्रों के हवाई निरीक्षण के लिए जा चुके हैं, प्रभावित क्षेत्रों का स्थलीय निरीक्षण भी करेंगे।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि अतिवृष्टि से जानमाल का जो नुकसान हुआ है। प्रभावितों को मानकों के अनुसार जल्द अनुमन्य सहायता राशि उपलब्ध कराया जाय। मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि अतिवृष्टि से किसानों का जो नुकसान हुआ है, उसका आकलन कर जल्द रिपोर्ट भेजी जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि अतिवृष्टि से प्रभावित क्षेत्रों में सेना से तीन हेलीकॉप्टर लगाये जा रहे हैं। उन्होंने जिलाधिकारी चमोली एवं रुद्रप्रयाग को फोन कर निर्देश दिये कि यात्रा मार्गों पर फंसे यात्रियों की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जाए। मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता से अपील की है कि धैर्य बनाकर रखें। अतिवृष्टि से हुए नुकसान की भरपाई के लिए सरकार द्वारा तेजी से प्रयास किये जा रहे हैं। सभी जरूरी इंतजाम सरकार द्वारा किये जा रहे हैं।इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव  आनन्द बर्द्धन, अपर प्रमुख सचिव  अभिनव कुमार, सचिव आपदा प्रबंधन  एस. ए. मुरूगेशन, अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्रीमती रिद्धिम अग्रवाल मौजूद थे।

अल्मोड़ा जनपद में भिकियासैंण में एक मकान भूस्खलन की चपेट में आ गया। इस दौरान दो बच्चे मलबे में दब गए। जिनके शव बरामद कर लिए गए हैं। अल्मोड़ा में ही एनटीडी क्षेत्र में एक मकान मलबे की चपेट में आ गया। इस दौरान एक मासूम की मौत हो गई। जबकि पुलिस और एसडीआरएफ की टीम ने दो लोगों को सुरक्षित निकल लिया।

गरमपानी से खबर आ रही है कि  हाईवे के निर्माण में लगी कंपनी के दो श्रमिकों की टिन शेड गिरने से मौत हो गई। कंपनी के एक कर्मचारी तैयब खान ने बताया हादसे में हसमूद (40) और इमरान (34) निवासी भोजीपुरा बरेली यूपी की दबकर मौत हो गई।  तहसीलदार बरखा ने दोनों की मौत की पुष्टि की है।

नैनीताल जिले के डिग्री कॉलेज मुक्तेश्वर के पास दीवार गिरने और मलबा आने से 6 मजदूर के दब जाने की सूचना मिली थी जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया इस दुखद घटना में 5 मजदूरों के शव बरामद कर लिए गए हैं और 1 घायल को सकुशल बरामद कर लिया गया है पुलिस द्वारा मृतकों के शवों का पंचनामा कर पोस्टमार्टम की कार्रवाई की जा रही है।

मृतक श्रमिकों के नाम धीरज कुमार कुशवाहा पुत्र धीरेंद्र प्रसाद निवासी ग्राम व पोस्ट बेलवा थाना साठी जिला पश्चिमी चंपारण बिहार उम्र 24 वर्ष, इम्तियाज़ पुत्र नुरआलम उम्र 20 वर्ष निवासी उपरोक्त, जुम्मेराती पुत्र तूफानी मिया उम्र 25 वर्ष निवासी मच्छर गहवा जिला पश्चिमी चंपारण बिहार, विनोद कुमार पुत्र राधेश्याम उम्र 21 वर्ष निवासी माधवपुर दुल्हापुर थाना जलालपुर जिला अम्बेडकर नगर उत्तर प्रदेश, हरेन्द्र कुमार पुत्र रामदार उम्र 37 वर्ष निवासी माधवपुर दुल्हापुर थाना जलालपुर जिलाअम्बेडकर नगर उत्तर प्रदेश तथा घायल श्रमिक का नाम कांशीराम पुत्र शम्भु राम उम्र 20 वर्ष निवासी ग्राम बेलवा थाना साठी जिला पश्चिमी चंपारण बिहार है। भारी बारिश के चलते नैनीताल जिले के कई मार्ग बाधित हो गये हैं। 

नैनीताल जिले में मार्गों की स्थिति

नैनीताल से हल्द्वानी मार्ग मड-हाउस ज्योलीकोट के पास मुख्य मार्ग ढह जाने से यातायात पूर्ण रूप से बाधित।नैनीताल से भवाली मार्ग पाइंस के पास मलवा आने से बाधित।नैनीताल से कालाढूंगी मार्ग नारायण नगर के पास मलवा आने अवरूद्ध।
रामनगर से अल्मोड़ा मार्ग धनगढ़ी रामनगर नाले में पानी के उफान के कारण बंद है।
भवाली से अल्मोड़ा मार्ग खैरना के पास मलवा आने से बंद है।
हल्द्वानी से चोरगलिया, सितारगंज मार्ग गौला पुल ढहने से अवरूद्ध है।
काठगोदाम से चोरगलिया, सितारगंज मार्ग शेरनाला में पानी के तेज बहाव के कारण अवरूद्ध है।
रामगढ़ से मुक्तेश्वर मार्ग मलवा आने से अवरूद्ध है।
भीमताल से पदमपुरी मार्ग विनायक के पास मलवा आने से अवरूद्ध है।
भीमताल से काठगोदाम मार्ग सलडी के पास मलवा आने से अवरूद्ध है।
रूसी बाईपास के पास मलवा आने से रूसी बाईपास सुखाताल की और मार्ग बंद है।

 

 

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

काशीपुर : पासी या अन्य किसी को टिकट मिला तो उन्हें चुनाव लड़वायेंगे चीमा, प्रेस कांफ्रेंस में अपने पुत्र की फिर दावेदारी पेश करते हुए खुद के विधायकी कार्यकाल की उपलब्धियां गिनायी, देखिए वीडियो

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (29 नवंबर 2021) काशीपुर । भाजपा विधायक हरभजन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *