ब्रेकिंग : लता मंगेश्कर की हालत में सुधार लेकिन अभी वेंटिलेटर पर हैं

मुंबई। भारतीय ही नहीं समूचे विश्व में स्वर कोोकिलाके नाम से मशहूर  गायिका लता मंगेशकर का इलाज मुंबई के हॉस्पिटल में चल रहा है और वह आईसीयू में भर्ती हैं। हॉस्पिटल के डॉक्टरों का कहना है कि लता मंगेशकर की हालात में सुधार है लेकिन उन्हें कुछ दिनों के लिए वेंटिलेटर में रखा जाएगा।

लता मंगेशकर जिस हॉस्पिटल में एडमिट हैं वहां के डॉक्टर्स का कहना है कि लता मंगेशकर का निमोनिया का इलाज चल रहा है और उनकी उम्र को देखते हुए हम रिस्क नहीं ले सकते। उन्हें एंटीबायोटिक्स दिया जा रहा है। कार्डियोलॉजिस्ट और बाकी डॉक्टर्स भी उन पर नजर रख रहे हैं। हालांकि हॉस्पिटल ने इस मामले पर कोई भी ऑफिशयल स्टेटमेंट जारी करने से मना किया है। 

इंटरनल मेडिसिन फिजिशन डॉ. प्रतीत समदानी के अनुसार लतामंगेशकर के  बाएं वेंट्रिकुलर में समस्‍या है और वह निमोोनिया से भी पीड़ित हैं। उनकी हालत नाजुक है, लेकिन पिछले कुछ घंटों में इसमें सुधार हुआ है।डॉक्‍टरों का कहना है कि लेफ्ट वेंट्रिकल सबसे ज्‍यादा हार्ट की पम्पिंग पावर की सप्‍लाइ करता है और नॉर्मल फंक्‍शन के लिए यह सबसे ज्‍यादा जरूरी है। ऐसी हालत में में दिल के बाएं हिस्‍से को ज्‍यादा काम करना होता है। ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल अथॉरिटीज ने उनकी कंडीशन के बारे में और ज्‍यादा बताने से इनकार किया है।

 बता दें कि सोमवार 2.30 बजे लता मंगेशकर को हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है। उस वक्त उन्हें सांस की दिक्कत बताई जा रही थी। लता मंगेशकर की बहन की बेटी रचना ने इस पर कहा था, लता दीदी को कुछ वायरल चेस्ट इंफेक्शन था जिस वजह से उन्हें हॉस्पिटल लाया गया। उनकी हालत में अब सुधार है।

स्वर साम्राज्ञी ने 28 सितंबर को अपना 90वां जन्मदिन मनाया था। वर्ष 2001 में उन्हें भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ दिया गया था। उन्होंने 36 भारतीय भाषाओं में गाने रिकार्ड कराए हैं।

28 सितंबर, 1929 को जन्मीं लता मंगेशकर को कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कारों के अलावा दादा साहब फाल्के पुरस्कार और फ्रांस के सवोर्च्च नागरिक पुरस्कार, ऑफिसर ऑफ द लीजन ऑफ ऑनर से भी सम्मानित किया गया है।

उन्होंने साल 1948 से 1974 के बीच 25 हजार से अधिक गाने गाए। वर्ष 1974 में गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने उन्हें इतिहास में सबसे अधिक गाने गाकर रिकॉर्ड दर्ज करवाने वाले कलाकार के रूप में स्थान दिया।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

आदमखोर गुलदार को शिकारियों ने किया ढेर, क्षेत्र के लोगों ने ली चैन की सांस

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (26 जुलाई, 2021) अगस्त्यमुनि विकासखण्ड के सिल्ला ब्राह्मण …