ब्रेकिंग : प्रधानमंत्री मोदी फिसले, अफरा-तफरी मची, नमामि गंगे प्रोजेक्ट की बैठक के बाद गंगा का नाव से किया मुआयना

नमामि गंगे प्रोजेक्ट पर बैठक करते प्रधानमंत्री

@ शब्द दूत ब्यूरो 

कानपुर। नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत नेशनल गंगा काउंसिल की पहली बैठक में प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी ने  प्रॉजेक्ट पर मंत्रियोंततथा अफसरों के साथ मंथन किया। पीएम ने इसके बाद अटल घाट पहुंचकर नौका विहार करते हुए गंगा सफाई का जायजा लिया। पीएम ने इससे पहले चंद्रशेखर आजाद यूनिवर्सिटी में नमामि गंगे प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। इस दौरान उनके साथ सीएम योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और नरेंद्र सिंह तोमर समेत कई मंत्री भी मौजूद थे। 

पीएम मोदी ने चंद्रशेखर आजाद यूनिवर्सिटी में नैशनल गंगा काउंसिल की पहली बैठक में नमामि गंगे परियोजना पर विस्तार से चर्चा की। बैठक के बाद पीएम ने गंगा पर इस योजना का प्रभाव देखने के लिए नौकायन किया। पीएम मोदी ने अटल घाट पहुंचकर स्टीमर के जरिए गंगा की सफाई का निरीक्षण किया। गंगा काउंसिल की बैठक में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी भी मौजूद रहे। पीएम मोदी ने नौका विहार के जरिए कानपुर के सीसामऊ नाले का सच भी देखा। पीएम मोदी के साथ सीएम योगी और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने भी नौका विहार किया।

इससे पहले गंगा काउंसिल की बैठक के बाद प्रधानमंत्री गंगा बैराज स्थित अटल घाट पहुंचे और गंगा की सफाई का निरीक्षण किया। पीएम मोदी की यात्रा को लेकर कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए। सीएसएयू और गंगा बैराज के आसपास के गेस्ट हाउसों में एक दिन के लिए शादी समारोह आदि स्थगित कर दिए गए हैं। ट्रैफिक बंदिशों के चलते शहर के कई स्कूलों में छुट्टी का भी ऐलान किया गया।

इसके बाद नाव में सवार होकर गंगा की अविरलता और निर्मलता का जायजा लिया। वह बंद हुए सीसामऊ नाले तक गए और वहां बने सेल्फी प्वाइंट को देखा। करीब 45 मिनट तक प्रधानमंत्री ने मां गंगा की गोद में बिताए।

फिसल कर गिरे प्रधानमंत्री को एसपीजी जवानों ने संभाला

गंगा बैराज की सीढ़ियों पर चढ़ते समय पीएम ,सीढिय़ों पर फिसल गए। पीएम नरेंद्र मोदी गंगा नदी बैराज की सीढिय़ों पर चढ़ते समय फिसलकर गिर गए। इसके बाद एसपीजी के जवानों ने उन्हें उठाया। इस दौरान मौके पर अफरा-तफरी मच गई। इसके बाद पीएम मोदी दिल्ली रवाना हो गए। यहां से वापस सीएसए कृषि विवि पहुंचने के बाद हेलीकॉप्टर से चकेरी एयरपोर्ट पहुंचे। यहां से प्रधानमंत्री दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

गंगा में गंदगी न दिखे, इसके लिए सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने पूरा दम लगा दिया है। टिहरी और नरौरा से छोड़े गए पानी के चलते गंगा बैराज पर भी शुक्रवार सुबह से कई गेट खोलकर डिस्चार्ज बढ़ा दिया गया। सूत्रों के मुताबिक, सुबह 8 बजे तक 14 हजार 228 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा था। दोपहर 1 बजे यह मात्रा बढ़ाकर 16 हजार 702 क्यूसेक और शाम 8 बजे तक 17 हजार 733 क्यूसेक पानी रिलीज हो रहा था।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

असम: बीजेपी ने तय किए प्रत्‍याशियों के नाम, माजुली से लड़ेंगे मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल

🔊 Listen to this @नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो असम में विधानसभा चुनाव के लिए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *