Breaking News

बड़ी खबर : 503 सासंदों ने किया नियमों का उल्लंघन, नहीं दिया अब तक संपत्ति विवरण, समय सीमा हुई समाप्त

आर टी आई एक्टिविस्ट नदीमुद्दीन एडवोकेट

काशीपुर । देेश केे चुनाव में भ्रष्टाचार नियंत्रण तथा पारदर्शिता के कितनेे ही दावेे कियेे जायेे लेेकिन खुुद लोेक सभा सांसद व मंत्री भी इसके लियेे बनायेे कानूनोें का पालन नहीं कर रहेे हैैं। लोेकसभा केेे केेवल 36 सांसदोें ने ही निर्धारित समय सीमा के अन्दर अपना व अपनेे आश्रितोें का सम्पत्ति दायित्व विवरण लोेकसभा सचिवालय मेें दिया है जबकि 503 सांसदोें ने 10 दिसम्बर 2019 तक अपना सम्पत्ति-दायित्व विवरण नहीं दिया हैै। यह खुुलासा सूचना अधिकार केे अन्तर्गत लोेकसभा सचिवालय द्वारा सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन को उपलब्ध करायी गयी सूचना सेे हुुआ हैै।

काशीपुर निवासी सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन नेे लोक सभा सचिवालय केे लोेक सूूचना अधिकारी सेे लोेकसभा सदस्य (सम्पत्ति तथा दायित्वोें की घोेषणा) नियम 2014 केे अन्तर्गत सम्पत्ति तथा दायित्वों की घोेषणा करनेे व न करनेे वाले लोेकसभा सदस्यों की सूचना मांगी गयी थी। इसके उत्तर मेें लोेकसभा सचिवालय के लोक सूचना अधिकारी द्वारा 10 दिसम्बर 2019 तक 17वीं लोेकसभा केे सम्पत्ति व दायित्वोें की घोेषणा करनेे व न करनेे वालेे सदस्योें की सूचना उपलब्ध करायी गयी हैै।

उपलब्ध करायी गयी सूचना केे अनुुसार लोेकसभा केे केवल 36 सदस्योें नेे 10 दिसम्बर 2019 तक अपनेे सम्पत्ति-दायित्वोें की घोेषणा की हैै। इसमें 25 सांसद भाजपा, आठ एआईटीसी तथा एक-एक सांसद बीजेडी, शिवसेना तथा एआईडीएमके के शामिल है।

उपलब्ध सूची के अनुसार सम्पत्ति विवरण देने वाले सांसदों में भाजपा केे सुरेश अंगदि, रतन लाल कटारिया, प्रहलाथ जोशी, डा0 रमेश पोखरियाल निशंक, नरेन्द्र मोदी, स्मृति जुबिन ईरानी, विष्णु दयाल राम, गजेन्द्र सिंह शेखावत, रवि शंकर प्रसाद, नरेन्द्र सिंह तोमर, राजू बिस्ता, साध्वी निरंजन ज्योति, केलाश चैधरी, देबाश्री चैधरी, संजय शमराव धौतरे, डा0 सतपाल सिंह, अनुराग शर्मा, प्रहलाद सिंह पटेल, महेश शर्मा, निषिकांत दुबे, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, राजा अमरेसवर नायक, हसंराज हंस तथा माला राज्या लक्ष्मीशाह शामिल है।

एआईटीसी0 के सांसदों में सजदा अहमद, खलीलुर्रहमान, दीपक अधिकारी, माला राय, असित कुमार मल, सुदीप बंधोपाध्याय, अबु ताहिर खान तथा प्रसून बनर्जी शामिल है। इसके अतिरिक्त शिवसेना के गजानंद चन्द्रकांत कृर्तिकृत, बीजेडी के अचुत्यानंद सामनत तथा एआईडीएमके के पी0रविन्द्र नाथ कुमार शामिल है।
सम्पत्ति विवरण देने वालो की सूची में क्रमांक 6 पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जिन्होंने 24 जुलाई 2019 को आठ पेज का सम्पत्ति विवरण दिया है का नाम शामिल है। सम्पत्ति विवरण देने वाले उत्तराखंड के सांसदों में मानव संसाधन मंत्री डा0 रमेश पोखरियाल निशंक का नाम क्रमांक 5 पर तथा माला राज्या लक्ष्मीशाह का नाम क्रमांक 35 पर शामिल है।

सम्पत्ति विवरण न देने वाली सूची में केन्द्रीय मंत्री मण्डल के विभिन्न मंत्रियों सहित विभिन्न पार्टियों के प्रमुख नेताओं के नाम शामिल है। 503 सांसदों की सूची में क्रमांक 385 पर गांधी नगर सांसद अमित शाह तथा 115 पर रायबरेली सांसद सोनिया गांधी तथा 114 पर वायनाड सांसद राहुल गांधी का नाम शामिल हैै।

लोेकसभा सदस्य (सम्पत्ति तथा दायित्वोें की घोेषणा) नियम 2004 के नियम 3 केे अनुुसार प्र्रत्येेक लोक सभा सांसद कोे शपथ ग्रहण की तिथि सेे 90 दिन केे भीतर अपनेे सम्पत्ति दायित्वोें की सूचना लोेकसभा सचिवालय कोे देेनेे का नियम है। 17वीं लोेकसभा के सात सांसदों को छोड़कर सभी सांसदों को 10 दिसम्बर 2019 से पहले इस नियम के अन्तर्गत सम्पत्ति दायित्वों का विवरण लोकसभा सचिवालय को देना था। इन सात सांसदों में चार सांसदों जिन्होंने 18 नवम्बर 2019 को शपथ ली है तथा इस तिथि से पूर्व एक सांसद की मृत्यु एक के इस्तीफे तथा एक के शपथ ग्रहण न करने के कारण उनका सम्पत्ति विवरण देने का दायित्व नहीं रहा। 18 नवम्बर 2019 को शपथ लेने वाले चार सांसदों में एल,जे,पी, के प्रिंसराज, एनसीपी के श्रीनिवास दादासाहिब पाटिल, बीजेपी की हिमाद्री सिंह तथा डी0एम0के के0 डीएम काथिर आनंद शामिल हैै। रामचन्द पासवान की 21 जुलाई 2019 को मृत्यु हो चुकी है तथा अतुल राय ने 10 दिसम्बर 2019 तक शपथ नहीं ली है तथा उदयन राजे प्रताप सिंह भोंसले ने 14 सितम्बर 2019 को इस्तीफा दे दिया है।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

हिमाचल में प्रवेश करने के लिए सैकड़ों कारों की लगी कतार, भारी ट्रैफिक जाम

🔊 Listen to this @नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो हिमचाल प्रदेश ने राज्य में प्रवेश …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *