Breaking News

पीएनबी में दो बैंकों का विलय, मंदी को लेकर वित्त मंत्रालय ने लिये कई बड़े फैसले

 

मीडिया को जानकारी देते वित्त मंत्री

वेद भदोला

नई दिल्ली। भारतीय अर्थव्यवस्था की सुस्‍ती को दूर करने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक बार फिर मीडिया से मुखातिब हुईं। उन्‍होंने कहा कि हमारी सरकार 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनाने के लिए प्रयास कर रही है। उन्‍होंने बैंकिंग सेक्‍टर को लेकर कहा कि लोगों के हित को ध्यान में रखकर फैसले लिए जा रहे हैं।

निर्मला सीतारमण ने पंजाब नेशनल बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरिएंटल बैंक के विलय का ऐलान भी किया। इस विलय के बाद पीएनबी देश का दूसरा बड़ा सरकारी बैंक बन जायेगा। इसके अलावा निर्मला सीतारमण ने केनरा बैंक और सिंडिकेट बैंक के विलय का भी ऐलान किया। निर्मला सीतारमण ने बताया कि यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक का भी विलय होगा। इसके अलावा इंडियन बैंक में इलाहाबाद बैंक के विलय का ऐलान किया गया। इस विलय के बाद देश को 7वां बड़ा पीएसयू बैंक मिलेगा। वित्त मंत्री के ऐलान के बाद अब देश में 12 पब्लिक सेक्टर बैंक रह गए हैं। इससे पहले साल 2017 में पब्‍लिक सेक्‍टर के 27 बैंक थे।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि हाउसिंग फाइनेंस को 3300 करोड़ रुपये का सपोर्ट सरकार देगी। उन्‍होंने आगे बताया कि अब तक 3 लाख से अधिक शेल कंपनियां बंद हो चुकी हैं।
वित्त मंत्री ने नीरव मोदी का जिक्र करते हुए कहा कि भगोड़ों की संपत्ति के जरिए रिकवरी जारी है।

इसके अलावा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैंकों को जल्द ही 70,000 करोड़ रुपये की पूंजी उपलब्ध कराने का ऐलान किया। इसके साथ ही बताया कि बैंक अब आरबीआई द्वारा रेपो रेट में की गई कटौती का फायदा सीधे ग्राहकों को देंगे। इसका असर ये होगा कि ग्राहकों को अब होम और ऑटो लोन सस्ते मिलेंगे।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि GST रिफंड में देरी से पैसों की कमी झेलने वाले कारोबारियों को राहत देते हुए ऐलान किया गया कि अब जीएसटी रिफंड का भुगतान 30 दिनों के अंदर किया जाएगा।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर विशेष: बस स्टॉप पर जैसे ही पहुंची तेजाब से चेहरा झुलसा दिया, पीड़ाभरी दर्दनाक दास्तान, पर हौसला आज भी आसमान छूने का,

🔊 Listen to this पहाड़ जैसे हौसले से बड़ी पहाड़ी गांव की बेटी एसिड अटैक …