Breaking News

पांच किलोमीटर की चढ़ाई कर पहुंचे डी एम दुर्गम गाँव ,आजादी के बाद पहले अधिकारी

मलुवाताल/भीमताल। विकास खंड भीमताल के जलिया गांव जिलाधिकारी सविन बंसल पहले जिलाधिकारी हैं जो आजादी के बाद जनता की समस्याएं और उनका दुख दर्द जानने पहुंचे जिलाधिकारी को अपने बीच पाकर गांववाले हैरत में पड़ गए। लगभग 5 किमी ऊंची पहाडी रास्तों की ढलान में पैदल चलते हुए जिलाधिकारी भीमताल ब्लाक के दूरस्थ गांव मलुवाताल मे पंहुचे और राजकीय प्राथमिक विद्यालय मलुवाताल मे आयोजित बहुउददेशीय शिविर में जनसमस्यायें सुनी लोगों द्वारा श्री बंसल का फुलमालाओं एवं ढोल नगाडों से भव्य स्वागत किया गया।
मलुवाताल ग्रामवासियों ने जिलाधिकारी बंसल के समक्ष सडक ना होने की मुख्य समस्या रखी। जिस पर अधिशासी अभियन्ता पीएमजीएसवाई ने बताया कि मलुवाताल हेतु पूर्व मे सडक प्रस्ताव भेजा गया था, मगर जियोग्राफिकल रिपोर्ट के अनुसार गांव का कुछ हिस्सा भू-स्खलन जोन मे आने के कारण विस्थापन की वजह से सडक प्रस्ताव लम्बित है। जिस पर गांववासियों की सडक बनाने की मांग पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी, जियोग्राफिकल सर्वे अधिकारी,अधिशासी अभियन्ता पीएजीएसवाई व आपदा प्रबन्धन अधिकारी की चार सदस्यीय टीम गठित की जो पुनः सर्वे कर अपनी रिपोर्ट शीघ्र जिलाधिकारी को प्रस्तुत करेगी।शिविर मे गाँव वासियों द्वारा जिलाधिकारी से स्वास्थय उप केन्द जंगलियागांव में दवाई उपलब्ध ना होने की शिकायत की जिस पर जिलाधिकारी ने सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुये अपर मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि सम्बन्धित एमओआईसी को दवा स्टाॅक पंजिका व औषधि सूची के साथ तलब किया। शिविर में परीक्षण दौरान किडनी रोग से ग्रस्त बच्चे प्रियांशु को उच्च चिकित्सालय मे उपचार हेतु भेजने के निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिये गये। उन्होने कहा कि प्रियांशु का निशुल्क चिकित्सकीय उपचार कराया जायेगा।
जिलाधिकारी श्री बंसल ने ग्रामीण महिलाओं की आजीविका मजबूत करने हेतु महिला समूह गठन करने के निर्देश सहायक परियोजना निदेशक संगीता आर्या को दिये। उन्होने श्रम विभाग मे पंजीकरण हेतु वितरित 21 आवेदनों को अगले सप्ताह दोबारा शिविर लगाकर आवेदनो को पूर्व कर श्रम विभाग को पंजीकरण कराने के निर्देश श्रम प्रवर्तन अधिकारी को दिये ताकि ग्रामीणों को हल्द्वानी ना जाना पडे। ग्रामीणो द्वारा सब्जी ढुलान मे हो रही परेशानी को बताने पर जिलाधिकारी ने मुख्य कृषि अधिकारियो को निर्देश दिये कि गांव से सब्जी विपणन व्यवस्था हेतु सचिव मण्डी समिति को पत्राचार कर समस्या का समाधान करें। उन्होने पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिये कि वह खच्चरो के ढुलान रेट बनाने का प्रस्ताव शीघ्र प्रस्तुत करें ताकि राशन आदि ढुलान में किसी प्रकार की परेशानी ना हो। जिलाधिकारी ने रा0प्रा0वि0 के बच्चों को स्वास्थ किट, कापियां व रंगीन पेंसिन्ल किट वितरित किये।
शिविर में श्रम विभाग द्वारा 21 आवेदन फार्म दिये गये, इसी तरह पशुपालन विभाग द्वारा 19 कृषको को दवा वितरण,स्वास्थ विभाग द्वारा 105 मरीजो का परीक्षण कर दवा वितरण,समाज कल्याण द्वारा 04 विधवा पेंशन,  ग्राम विकास द्वारा 10 बीपीएल फार्म,01 जाबकार्ड के फार्म भरवाने के साथ ही, खाद्य आपूर्ति विभाग द्वारा 9 राशन कार्ड फार्म भरवाने के साथ ही 03 उज्जवला गैस फार्म,25 आधारकार्ड फार्म भरवाने के साथ ही विद्युत विभाग द्वारा 01 विद्युत संयोजन दिया गया व सहकारिता, सेवायोजन, पशुपालन आदि विभागों द्वारा विभागीय योजनाओं की विस्तृत जानकारिया दी गई।
शिविर में मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, उपजिलाधिकारी विनोद कुमार, एपीडी संगीता आर्या, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट, अधिशासी अभियन्ता पीएमजीएसवाई केएस बिष्ट, जिला शिक्षा अधिकारी एचएल गौतम, पूर्व जिला पंचायत सदस्य डा0 हरीश विष्ट, अनिल चनौतिया, दिनेश सांगुड़ी , लक्ष्मण सिह, रामपाल गंगोला, प्रेम कुनियाल के अलावा बडी संख्या मे ग्रामीण उपस्थित थे।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

सम्मान :पत्रकार व साहित्यकार पंकज चतुर्वेदी की पुस्तक “क्यों डूबी पनडुब्बी” को मिलेगा हिंदी साहित्य का सूर सम्मान, उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान करेगा सम्मानित

🔊 Listen to this गाजियाबाद । प्रख्यात लेखक व साहित्यकार पंकज चतुर्वेदी की पुस्तक क्यों …