चिन्मयानंद की कमोड की मांग पूरी की जेल प्रशासन ने, बोले मैं शर्मिंदा हूँ

मनोज त्रिपाठी

लॉ की पढ़ाई कर रही छात्रा की तरफ से यौन शोषण के आरोप में के बाद बीजेपी के सीनियर नेता और पूर्व गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद को गिरफ्तार कर चौदह दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

 पूर्व गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद ने अपने ऊपर लगे ज्यादातर आरोपों को स्वीकार कर लिया है। केस के लिए गठित विशेष जांच दल के चीफ नवीन अरोड़ा ने कहा- स्वामी चिन्मयानंद ने बॉडी मसाज और यौन वार्तालाप समेत उन पर लगे सभी आरोपों को उन्होंने मान लिया। 

उधर, चिन्मयानंद ने यह कबूल किया है।  कि मालिश और यौन वार्तालाप समेत उनके ऊपर लगाए गए अधिकतर आरोप सही है। 

एसआईटी के सामने स्वामी ने कहा था मैं शर्मिंदा हूं शाहजहांपुर। स्वामी चिन्मयानंद ने एसआईटी से पूछताछ के दौरान सारे सवालों का जवाब एक ही दिया था कि मैं शर्मिंदा हूं यह बात एसआईटी ने शुक्रवार को ही प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहीं।

स्वामी के एक वाक्य के कहने से ही सब कुछ साफ हो गया और स्वामी चिन्मयानंद ने मैं शर्मिंदा हूं कहकर सब कुछ कबूल कर लिया था। स्वामी चिन्मयानंद को दुराचार के आरोप में शुक्रवार को कोर्ट ने जेल भेज दिया, लेकिन जेल पहुंचते ही स्वामी ने कहा कि अंग्रेजी शौचालय यानी कमोड नहीं होने से उनको दैनिक क्रिया में दिक्कत होगी। जेल प्रशासन ने तत्काल इसकी व्यवस्था कर दी। पूर्व गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद के लिए जेल में कमोड लगाया गया। 

स्वामी चिन्मयानंद पर लगी धारायें इस प्रकार हैं  धारा 376, C धारा 354डी, धारा 342 और धारा 506।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

काशीपुर मिशन 2022:कांग्रेस से मनोज जोशी एक बार फिर होंगे हाईकमान की पसंद:सूत्रों के मुताबिक पार्टी के सर्वे में निकल कर आयी ये बात

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो काशीपुर । पूर्व में काशीपुर विधानसभा क्षेत्र से …