गुजरात पर चक्रवाती तूफान ‘महा’ का खतरा

 

गुजरात के दक्षिणी हिस्सों में प्रचंड चक्रवाती तूफान ‘महा’ से छह नवंबर से भारी बारिश का अनुमान है। भारतीय मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा कि ‘महा’ अब प्रचंड चक्रवाती तूफान बन गया है और यह अभी लक्षद्वीप द्वीपों के समीप पूर्व-मध्य अरब सागर पर है। मौसम विभाग ने बताया कि तूफान के अगले 24 घंटों में उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर बढ़ने की संभावना है और फिर दो से चार नवंबर के दौरान उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ने तथा अगले 24 घंटों में बेहद प्रचंड चक्रवाती तूफान में तब्दील होने का अनुमान है।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जयंत सरकार ने बताया, ‘‘छह नवंबर के बाद यह चक्रवात दक्षिण गुजरात तट की ओर पूर्व-उत्तरपूर्व दिशा में फिर से मुड़ेगा। हमें इससे सौराष्ट्र के तटीय क्षेत्र समेत गुजरात क्षेत्र में भारी बारिश होने की संभावना है।’’ मौसम विभाग ने चक्रवात के जमीन पर आने की संभावना के बारे में कोई सटीक अनुमान नहीं जताया है।

मौसम विभाग के अनुसार चक्रवात से अगले 24 घंटे के दौरान दक्षिण गुजरात में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। गुजरात के कई हिस्सों में चक्रवात क्यार के कारण पिछले कुछ दिनों से बेमौसम बारिश हो रही है। चक्रवात क्यार अब कमजोर पड़ गया है और यह ओमान की ओर बढ़ रहा है।

उधर लक्षद्वीप वासियों ने तब राहत की सांस ली, जब चक्रवाती तूफान ‘महा’ द्वीपसमूह को बिना प्रभावित किए निकल गया। बता दें कि मौसम विभाग ने अनुमान लगाया था कि चक्रवात महा में 80-90 किमी से 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार वाली तेज हवाओं का प्रभाव लक्षद्वीप के उत्तरी भागों और इससे सटे दक्षिण-पूर्वी अरब सागर के ऊपर होने की संभावना है।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

दुखद:महान एथलीट मिल्खा सिंह का निधन, कोरोना से हारे जिंदगी की जंग

🔊 Listen to this चंडीगढ़ ।  महान एथलीट मिल्खा सिंह का बीती रात कोरोना से …