कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए कूमांयू मंडल के अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ेगी :मंडलायुक्त के निर्देश

हल्द्वानी। कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए कुमांयू मण्डल के मेडिकल कालेजों व अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों में बेडो  की संख्या बढाई जायेगी। आयुक्त कुमायू मण्डल डा0 नीरज खैरवाल ने आज सर्किट हाउस मे आयोजित समीक्षा बैठक के दौरान बताया। 

उन्होने कहा कि शासन द्वारा सुशीला तिवारी चिकित्सालय को कोविड-19 स्पेशलिस्ट चिकित्सालय के रूप में विकसित किया है। उन्होने बताया कि मण्डल के दूरस्थ इलाकों से संक्रमित होने वाले मरीजों का इलाज करने लिए रूद्रपुर मेडिकल कालेज तथा अल्मोडा मेडिकल कालेज मे 300-300 बेड 25 मई तक तैयार करने के निर्देश दिये गये है। उन्होने बताया कि अल्मोडा मेडिकल कालेज में 35 आईसीयू बेड तैयार करने के लिए जिलाधिकारी अल्मोडा से वार्ता हो गई है। उन्होने सुशीला तिवारी चिकित्सालय में कोविड-19 के इलाज हेतु जो बेड है उनकी संख्या बढाने के निर्देश दिये और कहा कि एसटीएच मे जो 37 आईसीयू कक्ष है उनकी संख्या बढाकर 200 के आसपास की जाए। उन्होने कहा कि बेस चिकित्सालय हल्द्वानी में 12 से 16 बेड का आईसीयू बना दिया जाए।

डा0 खैरवाल ने कहा कि बाहर के प्रदेशों से आने वालों का अनिवार्य रूप से कोरोना टैस्ट किया जाए तथा ऐसे लोगों एवं उनके तीमारदारों एव सहयोगियों को अनिवार्य रूप से निर्धारित अवधि के लिए शासकीय सुविधा युक्त कोरेन्टाइन स्थलों पर रखा जाए। उन्होनेे जिलाधिकारी नैनीताल सविन बंसल द्वारा विगत मेें निजी चिकित्सालयों को अधिग्रहित करते हुये कुमाऊं के पर्वतीय जनपदों तथा नैनीताल के लिए कोविड-19 के दौरान स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरूस्त करने के लिए सरकारी दरों पर दी जा रही चिकित्सकीय सेवाओं से मरीजों को मिल रहे लाभ के फीडबैक पर प्रसन्नता व्यक्त की। डा0 खैरवाल ने कहा कि जिलाधिकारी सविन बंसल द्वारा तैयार किये गये वर्तमान में चिकित्सा सुविधा माॅडल को सम्पूर्ण कुमांऊ और विशेषकर उधमसिह नगर में लागू किये जाने हेतु सम्पूर्ण प्रक्रिया को उपलब्ध कराने को कहा ताकि इस प्रक्रिया का पूर्ण अनुश्रवण किया जा सके।

उन्होने आईएमए उधमसिह नगर तथा आईएमए हल्द्वानी से अपील की है कि जो निजी चिकित्सक है वह ओपीडी में मरीजों का इलाज वीडियो काॅल के माध्यम से करें ताकि अनावश्यक मरीजों का आवागमन ना हो, संक्रमण काल के दौरान निजी चिकित्सकों को प्रशासन के साथ सहयोगात्मक तरीके से कार्य करना चाहिए। उन्होने कहा कि हमारा प्रयास है कि मण्डल से कोई भी मरीज रैफर होकर मण्डल अथवा प्रदेश से बाहर ना जाने पाये।
आयुक्त ने निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण कुमायू डा0 संजय कुमार साह को निर्देश दिये कि सभी जिला अस्पतालों मे आईसीयू, वैनटिलेटर, माॅनिटर तथा एक्सरे की अनिवार्य रूप से व्यवस्था करना सुनिश्चित करें यदि जिन चिकित्सालयों मे उपकरणों की कमी है तो उसका तत्काल प्रस्ताव महानिदेशक स्वास्थ्य को भिजवाना सुनिश्चित करें। उन्होेने कहा कि शासन द्वारा अवगत कराया गया है कि जनस्वास्थ्य एवं स्वास्थ्य सेवाओं के लिए धन की कोई कमी नही है। उन्होने सभी अधिकारियों से कहा कि वह पूर्ण मनोयोग एवं नियोजित ढंग से अपने दायित्व का निर्वहन करें।

बैठक में प्राचार्य मेडिकल कालेज डा0 सीपी भैसोड़ा, अपर आयुक्त संजय खेतवाल,अपर जिलाधिकारी कैलाश टोलिया,सीएमओ डा0 भारती राणा, संयुक्त निदेशक एटीआई नवनीत पाण्डे, चिकित्साधीक्षक सुशीला तिवारी डा0 अरूण कुमार जोशी, कन्सलटैंट बेस डा0 विनीता साह, डा0 डीएस पंचपाल आदि मौजूद थे।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

हरिद्वार कुंभ :निरंजनी अखाड़े की धर्मध्वजा स्थापना में शामिल हुये मेलाधिकारी दीपक रावत

🔊 Listen to this हरिद्वार। मेलाधिकारी दीपक रावत आज पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी में धर्मध्वजा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *