Breaking News

काशीपुर : रम्पुरा के अवैध शराब कारोबारी हमेशा पुलिस पर हावी क्यों? पहले भी दौड़ा चुके हैं पुलिस अधिकारियों को

प्रतीकात्मक चित्र

@मनोज श्रीवास्तव
काशीपुर। प्रशिक्षु आईपीएस को भी  रात में दौड़ा चुके हैं रम्पुरा केे शराब कारोबारी। बीती रात शराब कारोबारिियों ने दिखा दिया कि वह पुलिस काा मुकाबला करने के लिए तत्पर हैं। यहाँ सवाल यह है कि आखिर इन कारोबारियों के भीतर इतनी हिम्मत कहाँ से आई।

उत्तराखंड में नशे का कारोबार कितना मजबूत है काशीपुर की बीती रात की घटना इसका उदाहरण है। नशे  के खिलाफ चलाए अभियान के क्रम में देर रात कच्ची शराब के लिए कुख्यात गांव रम्पुरा में कार्यवाही के लिए पहुंची पुलिस टीम पर कारोबारियों ने पथराव करते हुए वाहन आदि क्षतिग्रस्त कर दिए। इस मामले में पुलिस ने कुंडेश्वरी चौकी प्रभारी पंकज कुमार की तहरीर पर 9 लोगों को नामजद करते हुए लगभग 5 दर्जन अज्ञात के विरुद्ध बलवा मारपीट सरकारी कार्य में बाधा डालने तथा तोड़फोड़ के आरोप में अभियोग पंजीकृत करते हुए उनके धरपकड़ के प्रयास शुरू किए हैं। 

बीती रात लगभग 9:15 बजे पुलिस की अलग-अलग टीमें रामनगर रोड स्थित ग्राम रम्पुरा पहुंच गई। पुलिस को देखते ही शराब कारोबारियों में भगदड़ मच गई। इस दौरान जब पुलिस ने कारोबारियों के खिलाफ कार्यवाही का प्रयास किया तो ग्रामीणों के साथ मिलकर जहरीली कच्ची शराब के गैरकानूनी कारोबार में लिप्त लोगों ने पुलिस टीम पर पथराव कर दिया। हालांकि पुलिस टीम ने बचाव में हल्के बल का प्रयोग करते हुए लाठियां भांजी लेकिन इसके बावजूद उत्पात मचा रहे शराब कारोबारियों ने सरकारी कार्य में बाधा डालते हुए वाहनों को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। इस मामले में पुलिस ने ग्राम रम्पुरा निवासी अमर सिंह पुत्र जोगिंदर सिंह मनजीत सिंह पुत्र जोगिंदर सिंह चरणजीत सिंह जंजीर कौर अमर सिंह मनजीत सिंह पिक्की व् रीना समेत 5 दर्जन अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 147 332 353 427 आईपीसी के अंतर्गत अभियोग पंजीकृत करते हुए उनके धरपकड़ के प्रयास शुरू किए हैं।

 घटना कैसे और क्यों? 

गांव रम्पुरा निवासी मंजीत सिंह के मकान में किराए पर रहने वाला तिलकराज नामक व्यक्ति वही घर के समीप चाऊमीन का ठेला लगाया करता है। वह मूल रूप से बाजपुर का रहने वाला बताया गया। बताते हैं कि ठेले की आड़ में हुआ पिछले लंबे समय से कच्ची शराब के कारोबार में लिप्त था। देर रात पहुंची पुलिस टीम ने जब तिलक राज को दबोच कर उसके कब्जे से 22 पाउच कच्ची शराब बरामद करते हुए उसे गिरफ्तार करने का प्रयास किया तो कच्ची शराब के अन्य कारोबारियों ने इसका विरोध करते हुए पुलिस टीम पर पथराव कर दिया। भीड़ के इसी नोकझोंक का फायदा उठाते हुए तिलक राज  पुलिस की आंखों में धूल झोंक कर मौके से फरार हो गया। इस मामले में पुलिस ने एस आई पंकज कुमार की पंकज कुमार की तहरीर पर तिलक राज के विरुद्ध आबकारी अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत किया है।

पुलिस पर ही लगाये आरोप 

पुलिस की शराब कारोबारियों के साथ देर रात हुई जमकर नोकझोंक व पथराव के बाद आज सफाई देने के लिए दर्जनों की तादाद में महिलाएं व पुरुष पुरुष व पुरुष पुरुष अपर पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंच गए। उन्होंने घरों में घुसकर पुलिस टीम पर तोड़फोड़ पुलिस टीम पर तोड़फोड़ व महिलाओं के साथ मारपीट का आरोप लगाया। ए एसपी कार्यालय पहुंचे ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि पुलिसकर्मियों ने उनके घरों की टंकीया तोड़ दी। दो बाइक उठा ले गए। यहां यह बताना जरूरी है कि कुंडेश्वरी चौकी क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम रम्पुरा मैं जहरीली कच्ची शराब का गैरकानूनी कारोबार कुटीर उद्योग के रूप में पिछले लंबे समय से फल-फूल रहा है। कच्ची शराब के कारोबारियों ने पहले भी एक तो चोरी ऊपर से सीना जोरी वाली कहावत को चरितार्थ करते हुए पुलिसकर्मियों के साथ अभद्रता जैसी घटनाओं को अंजाम दिया है।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

सीएम धामी ने राष्ट्रीय कैडेट कोर के अपर महानिदेशक मेजर जनरल के जे बाबू को दी श्रद्धांजलि

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो( 1अगस्त 2021) देहरादून । मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *