Breaking News

काशीपुर : निरंकारी कवि दरबार का आयोजन

काशीपुर। नव वर्ष पर संत निरंकारी सत्संग भवन में एक विशाल सत्संग का कार्यक्रम हुआ जिसमें सैकड़ों की संख्या में स्थानीय काशीपुर एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से आए हुए संत महापुरुषों ने भाग लिया। 

इस संत समागम में निरंकारी राजमाता कुलवंत कौर  के जन्मदिन भीी मनाया गया। इस अवसर पर एक विशाल कवि दरबार का भी आयोजन किया गया। जिसका मुख्य शीर्षक रहा मिशन प्यार का युगों युगों से ब्रह्म के साथ मिलाता है। इस शीर्षक पर अनेक कवियों ने अपनी कविता पढ़कर मिशन के उद्देश्य से अवगत कराया कि किस प्रकार से युगों युगों से यह सत्य की आवाज निरंकारी मिशन देता आ रहा है।

निरंकारी संतोो बाबा बूटा सिंह  उसके पश्चात शहंशाह बाबा अवतार सिंह , बाबा गुरबचन सिंह  , युग दृष्टा बाबा हरदेव सिंह  महाराज और उनके पश्चात सतगुरु माता सविंदर हरदेव  महाराज और उसी श्रृंखला में  वर्तमान में सतगुरु माता सुदीक्षा  महाराज भी इसी संदेश को जगह-जगह जाकर सत्य के साथ जोड़ते हुए प्यार का संदेश दे रही है । सारी मानवता को यही नववर्ष 2020 की शुभकामनाओं के साथ संदेश दिया गया कि हमने प्यार और नम्रता के साथ रहना है और उसी प्यार के संदेश को अपने जीवन में उतारते हुए लोगों तक यह सच्चाई की आवाज देनी है । ताकि हर व्यक्ति सत्य के साथ जोड़कर मिलजुल कर एक बनो ,नेक बनो . एक को जानो ,एक को मानो और एक हो जाओ के संदेश के साथ जुड़े रहे।

सतगुरु माता सुदीक्षा  ने अपने संदेश में जैसा कहा कि हम सभी पूरे विश्व के नागरिक बने और पूरे विश्व में मानवता को और मजबूत बनाएं और यह संसार सच्चे रूप में दीवार रहित संसार बने बच्चे बुजुर्ग भाई बहन सभी सत्य के मार्ग पर चलते रहे। इसी सतगुरु के संदेश को संत जनों ने एक-दूसरे तक पहुंचाया प्यार से मिलजुल कर रहने का संकल्प लिया। इस अवसर पर सत्संग के पश्चात गुरु के लंगर की भी सुंदर व्यवस्था निरंकारी सेवादारों के द्वारा की गई।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

काशीपुर : पासी या अन्य किसी को टिकट मिला तो उन्हें चुनाव लड़वायेंगे चीमा, प्रेस कांफ्रेंस में अपने पुत्र की फिर दावेदारी पेश करते हुए खुद के विधायकी कार्यकाल की उपलब्धियां गिनायी, देखिए वीडियो

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो (29 नवंबर 2021) काशीपुर । भाजपा विधायक हरभजन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *