कारगिल शहीद के नाम पर बने हिंवालीधार इंटर कालेज के छात्रों के स्वास्थ्य और शिक्षा के साथ खिलवाड़

पौड़ी ।कारगिल शहीद मान सिंह राजकीय इंटर कालेज हिंवालीधार में पढ़ रहे दो सौ नब्बे छात्र जो पानी पी रहे हैं वह कहाँ से आता है यह आप जानेगे तो हैरान रह जाएंगे। यही नहीं ऐसी पानी से मिड डे मील भी बनाया जाता है। जी हाँ, पानी की जहाँ से आपूर्ति विद्यालय को होती है वहां चार गाँवों का श्मशान घाट है। बताया जाता है कि इस पानी में राख कोयला और मानव हड्डियां बहकर आती है । स्थानीय निवासी जयकृष्ण गौड़ ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को कई बार इस संबंध में लिख कर दिया है लेकिन किसी ने सुनवाई नहीं की ।
जयकृष्ण गौड़ बताते है की उन्होंने सी एम हेल्पलाइन में शिकायत डाली पर नतीजा वही धाक के तीन पात । विद्यालय में शिक्षण और मिनिस्ट्रियल स्टाफ भी काम है  । 15 विषयों के अध्यापक न होने से छात्रों की पढ़ाई में व्यवधान उत्पन्न हो रहा है । रिक्त पदों में प्रधानाध्यापक , कनिष्ठ सहायक,प्रवक्ता इतिहास,प्रवक्ता गणित, प्रवक्ता हिंदी (इंटर ),प्रवक्ता अर्थशास्त्र,प्रवक्ता कला, हिंदी अध्यापक (हाई स्कूल),प्रवक्ता जीव विज्ञान, प्रवक्ता संस्कृत के अलावा चतुर्थ  श्रेणी कर्मचारी 3 पद रिक्त चल रहे हैं ।हैरत की बात तो यह है कि शिक्षा विभाग की अनदेखी के चलते इस  विद्यालय में गणित  के दो प्रवक्ता हैं.मिनस्ट्रीयल कर्मियों में से दो को अन्यत्र सम्बद्ध कर दिया गया हैं । इस वजह से विद्यालय के दो शिक्षक विभागीय डाक का काम काज देखते हैं । कुल मिलाकर शहीद के नाम पर स्थापित यह विद्यालय उत्तराखंड के शिक्षा विभाग की घोर लापरवाही का उदाहरण हैं । उत्तराखंड क्रान्ति दल डेमोक्रेटिक के रणजीत रावत कहते हैं कि राज्य के नौनिहालों कि शिक्षा और स्वास्थ्य को लेकर सरका कितनी गंभीर हैं । यह हिंवालीधार के कारगिल शहीद मान सिंह राजकीय इंटर कालेज खुद बता रहा हैं। मुख्यमंत्री की हेल्प लाइन में शिकायत करने के बावजूद समस्या का निदान न होना बताता हैं कि सी एम् हेल्प लाइन की कितनी उपयोगिता हैं ।

 

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

दुखद:महान एथलीट मिल्खा सिंह का निधन, कोरोना से हारे जिंदगी की जंग

🔊 Listen to this चंडीगढ़ ।  महान एथलीट मिल्खा सिंह का बीती रात कोरोना से …