उन्नाव रेप पीड़िता :दुर्घटना या सोची समझी साजिश, हालत नाजुक, ट्रक चालक मालिक समेत पकड़ा

लखनऊ ट्रामा सेंटर में भर्ती पीड़िता

लखनऊ। दुर्घटना में घायल उन्नाव  रेपकांड पीड़िता की हालत नाजुक बनी हुई है। दुर्घटना के आरोपी ट्रक चालक व मालिक को पुलिस ने पकड़ लिया है। 

बता दें कि बीती शाम रेप पीड़िता अपनी मां और चाची के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा से मिलने जा रही थी। कार में दो वकील भी साथ थे। दुर्घटना में पीड़िता की चाची और मां की मौत हो गई थी जबकि पीड़िता गंभीर रूप से घायल हो गई थी। जिसका इलाज लखनऊ ट्रामा सेंटर में चल रहा है।

हाई-प्रोफाइल मामला होने के कारण लखनऊ रेंज के डीआईजी ने एक फोरेंसिक टीम को मौके पर भेजा है। उधर रेप पीड़िता की कार को टक्कर मारने वाले ट्रक को पुलिस ने बरामद कर लिया है। खास बात यह है कि ट्रक की नंबर प्लेट पर कालिख पुती हुई थी। इससे आशंका जताई जा रही है कि दुर्घटना जान बूझकर की गई हो सकती है। हालांकि ट्रक चालक और मालिक दोनों भी पुलिस के कब्जे में आ गये हैं। दोनों ही फतेहपुर के रहने वाले हैं। अभी पुलिस जांच में जुटी है।

उधर उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओ पी सिंह ने कहा है कि पीड़िता ने खुद ही अपने सुरक्षा में लगे जवानों को अपने साथ नहीं रखा था। 

पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश ओम प्रकाश सिंह ने  रेप कांड की पीड़िता व उसके वकील के सड़क दुर्घटना में घायल होने व दो लोगों की मौत को एक सामान्य घटना बताया है। यहां मीडिया से बात करते हुए पुलिस महानिदेशक ने कहा कि अगर परिवार चाहेगा तो हम इस घटना की सीबीआई जांच की सिफारिश कर देंगे।उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्टया यह एक्सीडेंट का मामला प्रतीत हो रहा है।पूरे मामले की बारीकी से जांच की जा रही है।जहां तक सुरक्षा साथ न होने का सवाल है तो पीड़िता ने पुलिस कर्मियों से कहा था कि जब जरूरत होगी तो आपको बुला लेंगे।यही वजह थी कि हादसे के समय सुरक्षाकर्मी उनके पास नहीं था, राज्य सरकार ने पूरे मामले को गंभीरता से लिया है।सरकार पूरे मामले में निष्पक्ष जांच करा रही है।

बताया जा रहा है कि कार में जगह कम होने की वजह पीड़िता की सुरक्षा में लगे जवान साथ में नहीं जा पाए थे। हकीकत क्या है यह तो जांच के बाद ही सामने आ पायेगा।

पीड़िता से मिलने के लिए दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल आज लखनऊ पहुंच गई हैं। जहाँ वह ट्रामा सेंटर में भर्ती पीड़िता से मुलाकात करेंगी। इससे पूर्व सपा के कई नेता भी ट्रामा सेंटर पहुंचे हैं और उन्होंने पीड़िता के परिजनों से मुलाकात की। सपा विधायक उदयवीर सिंह ने हादसे की सीबीआई जांच की मांग की है। वहीं इस मामले में रेप के आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके गुर्गों पर आरोप लग रहे हैं। बता दें कि पीड़िता से रेप के आरोपी विधायक सीतापुर जेल में बंद हैं।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

बिल नहीं चुकाया तो ऑपरेशन के बाद बिना टांके लगाए खुला छोड़ा पेट, मासूम की मौत

🔊 Listen to this @शब्द दूत ब्यूरो उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में एक निजी अस्पताल …