उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच नई बहस छिड़ी

 

सोशल मीडिया पर बलूनी को मुख्यमंत्री के लिए बेहतर बताया 

दिल्ली से वेद भदोला 

     आखिरकार अनिल बलूनी को सोशल मीडिया पर चल रही खबरों का जबाब सोशल  सोशल मीडिया के माध्यम से ही देना पड़ा। त्रिवेंद्र रावत की जगह उनके मुख्यमंत्री बनने की खबरों के बीच आज अपने फेसबुक पेज पर साफ तौर पर कहा कि राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की अभी कोई संभावना नहीं है। लेकिन अनिल बलूनी की इस फेसबुक पोस्ट पर जो प्रतिक्रियाएं आ रही हैं उनमें अधिकांश अनिल बलूनी को मुख्यमंत्री पद पर देखना चाहते हैं। फेसबुक पर इस पोस्ट के बाद यह साफ हो गया कि त्रिवेंद्र रावत को लेकर जनता कुछ खास खुश नहीं दिखती हैं। 

हालांकि, अनिल बलूनी सोशल मीडिया में काफी सक्रिय दिखायी देते हैं। हो भी क्यों न जब वे भाजपा के मीडिया प्रमुख हैं। लेकिन, जिस प्रकार बलूनी अपनी उपलब्धियों का बखान सोशल मीडिया में करते हैं, वो देखते ही बनता है।

एनआईटी का सवाल हो या पहाड़ की बीमार स्वास्थ्य व्यवस्था का मसला हो, बलूनी सोशल मीडिया में अपनी उपस्थिति दर्ज तो करते हैं, लेकिन, उनके कार्य विश्वास अर्जित करने में असमर्थ ही रहे। बतौर, राज्यसभा सांसद उनकी एक भी कार्ययोजना अभी तक धरातल पर खरी नहीं उतरी है।

हालांकि राज्यसभा सासंद बलूनी ने नेतृत्व परिवर्तन की खबरों को इस पोस्ट के माध्यम से नकारने की बात जरूर कही है। पर इस पोस्ट के आते ही जो टिप्पणियां उस पर आयी हैं उनमें 90 प्रतिशत उनके नेतृत्व का समर्थन कर रहे हैं। और मौजूदा मुख्यमंत्री की कार्यशैली से नाखुशी जाहिर की है। मतलब  श्री बलूनी की इस पोस्ट के बाद यह बहस और जोर पकड़ गयी है। पोस्ट पर आयीं कुछ टिप्पणी जस की तस दी जा रही हैं। 

“आदरणीय गुरु जी नमस्कार उत्तराखंड सरकार में इस वक्त धरातल पर कोई भी कार्य नहीं हो पा रहा है जो कुछ भी योजनाएं चल रही है वह केवल केंद्र की योजनाएं चल रही है प्रदेश के युवाओं के लिए रोजगार और उनके विकास के लिए कोई खास योजना सरकार के पास नहीं है,  साथ ही प्रदेश की जनता का विश्वास वर्तमान सरकार से उठता जा रहा है।  सभी प्रदेश के कर्मचारी चाहे वह सरकारी हो ,सविंदा हो या ठेका कर्मी उनको पूर्ण सम्मान वअधिकार नहीं मिल पा रहे हैं। 108 कर्मचारी हो उपनल कर्मचारी हो संविदा कर्मचारी हो निगम के कर्मचारी हो या राज्य कर्मचारी कहीं ना कहीं उनमें सरकार के प्रति एक आक्रोश दिखाई दे रहा है। यह आक्रोश पूरी तरह ना फैल जाए उसके लिए आपको और मोदी सरकार को एक बड़ी पहल करनी आवश्यक है। लोग परेशान है वर्तमान नेतृत्व से इसलिए आपको लाना चाहते  हैं। ये उनकी चाल नही है आपके खिलाफ आपको मुख्यमंत्री बनाने की अफवाह चला के कोई अपना व्यक्तिगत फायदा नही देख रहा।  सर,  जनता को आपसे बहुत उम्मीद है वह आपको उत्तराखंड का मुख्यमंत्री देखना चाहती है अगर त्रिवेंद्र रावत सत्ता में बने रहे तो अगली बार बीजेपी का आना मुश्किल है। “

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

असम: बीजेपी ने तय किए प्रत्‍याशियों के नाम, माजुली से लड़ेंगे मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल

🔊 Listen to this @नई दिल्ली शब्द दूत ब्यूरो असम में विधानसभा चुनाव के लिए …